Hindi word processor
  गोवा में एमजीपी ने सरकार से समर्थन वापस लिया
स्रोतः प्रभासाक्षी
स्थानः
पणजी
तिथिः
05 Qjojh 2012
 

   

महाराष्ट्रवादी गोमांतक पार्टी यएमजीपीद्ध ने गोवा की कांग्रेस नीत गठबंधन सरकार से आज समर्थन वापस ले लिया। इस दल ने साथ ही तीन मार्च को राज्य में होने वाले विधानसभा चुनावों के लिए मुख्य विपक्षी भाजपा के साथ गठबंधन की घोषणा की। एमजीपी अध्यक्ष दीपक धावलीकर ने कहा कि उनके दल की केन्द्रीय समिति की ओर से पारित एक प्रस्ताव के तहत यह फैसला किया गया। उन्होंने कहा कि राज्य की सबसे पुराने इस क्षेत्रीय दल ने पत्र भेजकर अपने इस फैसले के बारे में राज्यपाल के॰ शंकरनारायणनए विधानसभा अध्यक्ष प्रतापसिंह राणे और मुख्यमंत्री दिगंबर कामत को सूचित कर दिया है। एमजीपी के गोवा की 40 सदस्यीय विधानसभा में दो विधायक हैं। एमजीपी के एकमात्र मंत्री रहे रामाकृष्ण धावलीकर राज्य कैबिनेट से इस्तीफा दे चुके हैं। भाजपा और एमजीपी के नेताओं ने बाद में एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए चुनाव पूर्व गठबंधन की घोषणा की। भाजपा अध्यक्ष नितिन गडकरी ने कहा कि भाजपा 31 सीटों और एमजीपी आठ सीटों पर चुनाव लडे़गी। दोनों दल एक विधानसभा क्षेत्र में निर्दलीय प्रत्याशी को समर्थन देंगे। गडकरी ने कहा कि एमजीपी और भाजपा स्वाभाविक सहयोगी हैं। उन्होंने बहुमत हासिल करने को लेकर विश्वास जताया। गडकरी ने कहाए श्श्हमारा एकमात्र उद्देश्य अच्छा शासन देना है।श्श् ये दोनों दल जल्द ही चुनाव घोषणापत्र जारी करेंगे। गडकरी ने कहा कि भाजपा नेता दिल्ली में बैठक करके प्रत्याशियों को चुनेंगे। एमजीपी ने कहा कि उनकी सूची सोमवार को जारी होगी। इस दल के समर्थन वापस लेने से कांग्रेस नीत सरकार की स्थिरता पर प्रभाव नहीं पड़ेगा क्योंकि इसके पास अब भी सदन में बहुमत हासिल है।


समयः
11%50