Hindi word processor
  चिदंबरम के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट जाउंगारू स्वामी
स्रोतः प्रभासाक्षी
स्थानः
मुंबई
तिथिः
05 Qjojh 2012
 

   

जनता पार्टी के अध्यक्ष सुब्रह्मण्यम स्वामी ने 2जी स्पेक्ट्रम मामले में निचली अदालत के फैसले को आज श्श्गलतश्श् बताया और कहा कि वह जल्द ही इसे उच्चतम न्यायालय में साबित कर देंगे। स्वामी ने यहां कहाए श्श्प्रथम दृष्ट्या मैं चिदंबरम के खिलाफ मामला समझता हूं और अदालत भी सहमत है। मैं चाहता हूं कि अदालत उनका अपराध स्थापित करने के लिये उन्हें समन करे और उनसे जिरह करे कि वह 2001 के मूल्य और कंपनियों की हिस्सेदारी के विलय पर राजी क्यों हुए।श्श् वह श्2जी घोटाला और इसके प्रभावश् शीर्षक पर बोल रहे थे। स्वामी ने कहाए श्श्अपराध सुनवाई के चरण में नहीं आएगा। अगर यपूर्व दूरसंचार मंत्री और मुख्य आरोपीद्ध ए॰ राजा आपराधिक रूप से जिम्मेदार है तो चिदंबरम की भूमिका की जांच क्यों नहीं हो सकतीए दोष की कार्यवाही सुनवाई के चरण में नहीं लाई जा सकती। न्यायाधीश ने गलत आधार पर काम किया। मैं जल्द ही उच्चतम न्यायालय जाउंगा।श्श् उन्होंने कहा कि वह जल्द ही चिदंबरम के खिलाफ उच्चतम न्यायालय जाएंगे। स्वामी ने कहा कि प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने टीवी पर जब कहा कि स्पेक्ट्रम के मूल्य पर निण्रय करने के लिये वित्त और दूरसंचार मंत्री अधिकृत थे तभी से उन्होंने घोटाले में तत्कालीन वित्त मंत्री की भूमिका के बारे में साक्ष्य जुटाने शुरू किये थे। उन्होंने कहा था कि राजग के समय में भी ऐसा ही होता था। स्वामी ने कहाए श्श्सरकार को राजस्व का नुकसान हुआ क्योंकि मूल्यों को कम कीमत पर तय किया गया। वर्ष 2001 में 40 लाख मोबाइल फोन थे जबकि 2008 में 70 करोड़ मोबाइल फोन थे। बाजार बड़ा हो गया है।श्श् देश में भ्रष्टाचार निरोधक आंदोलन के बारे में स्वामी ने कहा कि उन्हें अन्ना हजारे और रामदेव के साथ मिलकर काम करने की जरूरत है। उन्होंने कहाए श्श्मैंने और रामदेव ने शनिवार को एक बड़ी रैली को संबोधित किया। टीम अन्ना को नेताओं के खिलाफ वैर छोड़ देना चाहिए। लोकतंत्र में आप नेताओं और राजनीतिक पार्टियों के बगैर काम नहीं कर सकते।श्श्


समयः
17%03