Hindi word processor
  अमेरिकी इतिहासविद् ने महान हस्तियों के पत्र चुराने की बात कुबूली
स्रोतः प्रभासाक्षी
स्थानः
वाशिंगटन
तिथिः
08 Qjojh 2012
 

   

अमेरिका के एक इतिहासकार ने स्वीकार किया है कि उन्होंने जार्ज वाशिंगटनए आइजेक न्यूटन तथा पूर्व फ्रांसीसी शासक नेपोलियन बोनापार्ट की ओर से हस्ताक्षरित पत्रों समेत दर्जनों ऐतिहासिक दस्तावेज चुराए जिनकी कीमत दस लाख डालर से अधिक है। न्यूयार्क निवासी इतिहासकार 63 वर्षीय बैरी लेंदेउ तथा 24 वर्षीय शोधकर्ता जैसोन सेवडोफ ने बाल्टीमोर में एक अदालत के सामने स्वीकार किया कि उन्होंने दिसंबर 2010 से पिछले वर्ष जुलाई में गिरफ्तार किए जाने तक मैरीलैंडए न्यूयार्कए पेनसिल्वेनिया और कनेक्टिकट संग्रहालय से ऐतिहासिक दस्तावेज चुराए और साजिश रची। चुराए गए दस्तावेजों पर अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपतियों जार्ज वाशिंगटनए फ्रैंकलिन डी रूजवेल्टए लिंकन तथा जान एडम्स से लेकर फ्रांसीसी नेताओं मैरी एंतोनियेत और नैपोलियन बोनापार्ट और जर्मन दार्शनिक कार्ल माक्र्स तक शामिल हैं। एफबीआई ने एक बयान में यह जानकारी दी हे। एक पत्र पर एक अप्रैल 1780 को बेंजामिन फ्रैंकलिन की ओर से फ्रांस के वर्सीले में हस्ताक्षर किए गए हैं। यह पत्र जान पाल जोंस को लिखा गया था और इसमें फ्रांस से अमेरिकी नौसेना को भेजे जाने वाले गनपाउडर की गुणवत्ता का जिक्र किया गया है। इस पत्र की कीमत हजारों डालर है। लेंदेउ और सेवडौफ ने न्यूयार्क हिस्टोरिकल सोसायटी से जो अन्य दस्तावेज चुराए उनमें जान जे तथा अलेक्जेंडर हैमिल्टन की ओर से लिखे गए पत्र और दस्तावेज भी शामिल थे। पिछले साल जुलाई में बाल्टीमोर के मैरीलैंड हिस्टोरिकल सोसायटी में एक क्यूरेटर ने सेवडौफ को अपने बैग में कुछ दस्तावेजों को भरते देखा तो उसके बाद इस चोरी का पता चला। घटना के उपरांत दोनों को गिरफ्तार कर लिया गया। लेंदेउ को इस मामले में सात मई को सजा सुनायी जाएगी लेकिन सेवडौफ की सजा के लिए किसी तारीख की घोषणा नहीं की गयी है। दोनों को पांच साल के कारावास की सजा सुनायी गयी है।


समयः
14%00