Hindi word processor
  घोटालों के लिए सोनिया जिम्मेदाररू आडवाणी
स्रोतः प्रभासाक्षी
स्थानः
नई दिल्ली
तिथिः
08 Qjojh 2012
 

   

भाजपा के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी ने संप्रग सरकार के दस बड़े घोटाले गिनाते हुए इनके लिए कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को जिम्मेदार ठहराया। आडवाणी ने इन दस घोटालों में 2जी स्पेक्ट्रमए राष्ट्रमंडल खेल आयोजनए आदर्श हाउसिंग मामलाए क्वात्रोच्ची मामलाए तेलगी स्टांप मामला और हसन अली आदि मामलों को गिनाते हुए कहा कि कि इन घोटालों के लिए प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की बजाए संप्रग अध्यक्ष सोनिया गांधी जिम्मेदार हैं क्योंकि वास्तव में सरकार वही चला रही हैं। अपने ब्लाग में इस आरोप को लगाते हुए भाजपा नेता ने कहाए श्श्यह सरकार औपचारिक रूप से डॉ॰ मनमोहन सिंह चला रहे हैंए लेकिन अब किसी के मन में इस बात का कोई संदेह नहीं रह गया है कि यह सरकार हकीकत में संप्रग अध्यक्ष श्रीमती सोनिया गांधी की ओर से चलाई जा रही है।श्श् सोनिया पर सीधा निशाना साधते हुए उन्होंने कहाए अगर स्वतंत्र भारत में भ्रष्टाचार और घोटालों का व्यापक इतिहास लिखा जाए तोए मुझे कोई संदेह नहीं कि इनकी संख्या और लूटे गए धन के आयाम के मामले में पूर्व की कोई सरकार संप्रग शासन के रिकार्ड को तोड़ नहीं पाएगी। क्रिकेट के शौकीन आडवाणी ने इस खेल की उपमाओं का उपयोग करते हुए कहा कि अगर 2जी मामले की सीरीज़ को मैच श्रृंखला माना जाए तो निरूसंदेह श्श्योद्धा सुब्रमण्यम स्वामी को मैन आफ द सीरीज़श्श् माना जाएगा। उच्चतम न्यायालय की ओर से 2जी के 122 लाइसेंस रद्द किए जाने पर टिप्पणी करते हुए उन्होंने कहा कि यह सवाल उठ सकता है कि इन्हें जारी करने की इतनी बड़ी श्श्धोखाधड़ीश्श् के क्या अकेले तत्कालीन दूरसंचार मंत्री ए॰ राजा जिम्मेदार हैंए जैसा कि सरकार दावा कर रही हैघ् निचली अदालत के फैसले को गृह मंत्री पी चिदंबरम को क्लीन चिट दिए जाने की सरकार की दलील पर उन्होंने कहा कि यह ऐसा ही है जैसे इंग्लैड और आस्ट्रेलिया में दर्जनों टेस्ट और एक दिवसीय मैच हार जाने के बाद एक अकेले टी.20 में भारत की जीत को बीसीसीआई ने पेड न्यूज़ के तौर पर अखबारों के पहले पन्ने में छपवाया। सरकार पर कटाक्ष करते हुए उन्होंने कहा कि अगर चिदंबरम के बारे में संप्रग और कांग्रेस को ऐसा ही लगता है तो वह भी बीसीसीआई की तरह अखबारों के पहले पन्ने पर गृह मंत्री को मिली कथित राहत की बात छपवाए। साथ ही उन्होंने खबरदार किया कि सरकार की इस दलील और खुशफहमी को पंक्चर करने के लिए चिदंबरम को सह अभियुक्त नहीं बनाने संबंधी निचली अदालत के फैसले को स्वामी उच्च अदालत में चुनौती देने जा रहे हैं।


समयः
15%08