अंतरराष्ट्रीय
prabhasakshi.com

 

ख़बरें:   राजनीति  |  देश-प्रदेश  |  दुनिया-जहान  |  कारोबार  |  दुनिया खेलों की  |  बॉलीवुड-हॉलीवुड  |  दिलचस्प  |  व्रत-त्योहार  |  कार्टून   स्तंभः   कुलदीप नैयर  |  स्व. खुशवंत सिंह  |  राजनाथ सिंह 'सूर्य'  |  बालेन्दु शर्मा दाधीच

यूनिकोड फॉन्ट


पाक संसद ने घरेलू हिंसा को आपराधिक हमले का रूप दिया

प्रभासाक्षी
21 फरवरी 2012    इस्लामाबाद

पाकिस्तान की संसद ने एक ऐतिहासिक विधेयक पारित किया हैए जिसके तहत महिलाओं और बच्चों के खिलाफ हिंसा को आपराधिक हमला माना जाएगा और इसके लिए जेल की सजा और जुर्माने का प्रावधान होगा। घरेलू हिंसा यनिवारण एवं संरक्षणद्ध अधिनियम के तहत सीनेट में सोमवार को जो विधेयक पारित किया गयाए उसके तहत किसी महिला या बच्चे की पिटाई करने में किसी व्यक्ति को दोषी पाए जाने के बाद कम से कम छह महीने की सजा होगी और कम से कम 1ए00ए000 लाख रुपया जुर्माना लगाया जा सकेगा। यह संरक्षण घरों में काम करने वाले नौकर.नौकरानियों के लिए भी होगा। मीडिया में आई खबरों के मुताबिक इस विधेयक को सीनेटर नीलोफर बख्तियार ने पेश किया था और इसे संसद के ऊपरी सदन ने सर्वसम्मति से पारित कर दिया। गौरतलब है कि संसद के निचले सदन नेशनल एसेंबली 2009 में इस विधेयक को पहले ही पारित किया जा चुका है और अब राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी की मुहर लगने पर यह कानून का रूप लेगा। इस तरह के कानून के अभाव में पुलिस उस व्यक्ति को गिरफ्तार नहीं कर सकती थीए जो अपनी पत्नी या बच्चों को पीटता था क्योंकि इसे घरेलू मामला माना जाता था।


13:31

Share this article on Facebook:

कृति फॉन्ट


;g vkys[k d`fr QkWUV esa miyC/k ugha   


   

;g vkys[k d`fr QkWUV esa miyC/k ugha

 

Online shopping India