Hindi word processor
  अमेरिकी कांग्रेस में बलूचिस्तान पर विधेयक पेश किए जाने की निंदा
स्रोतः प्रभासाक्षी
स्थानः
लाहौर
तिथिः
21 Qjojh 2012
 

   

अमेरिकी कांग्रेस में बलूचिस्तान के लोगों के लिए आत्म.निण्रय के अधिकार संबंधी विधेयक पेश किए जाने के बीच पंजाब प्रांत के राजनीतिक दलों ने विधानसभा में प्रस्ताव पेश कर इस विवादास्पद विधेयक की निंदा की है। श्पाकिस्तान मुस्लिम लीग.नवाजश् यपीएमएल.एनद्ध की ओर से पेश किए गए प्रस्ताव में कहा गया है श्श्पंजाब का यह सम्माननीय सदन अमेरिकी कांग्रेस की ओर से मंजूर विधेयक को गैर.जरूरी और पाकिस्तान के अंदरूनी मामलों में दखलंदाजी करार देता है। देश के लोग इस विधेयक पर अपनी चिंताएं जाहिर कर रहे हैं।श्श् प्रस्ताव में कहा गया श्श्इस सदन का मानना है कि विधेयक अमेरिकी कांग्रेस में राजनीतिक उद्देश्यों की प्राप्ति की मंशा से पेश किया गया है जबकि कांग्रेस के किसी भी सदस्य ने आज तक न तो कश्मीर में मानवाधिकार हनन के खिलाफ कोई प्रस्ताव पेश कियाए न ही आफिया सिद्दीकी को कैद या इराक में अमानवीय हत्याओं के खिलाफ कोई प्रस्ताव पेश किया।श्श् प्रस्ताव के मुताबिकए श्श्सदन बलूचिस्तान के लोगों के साथ अपनी एकजुटता प्रकट करता है और संघीय सरकार से सिफारिश करता है कि प्रांत की समस्याएं सुलझाने के लिए बलूचिस्तान के नेताओं को साथ लिया जाए। पंजाब का यह निर्वाचित सदन यह घोषणा भी करता है कि अमेरिकी दूतावास की ओर से इस बाबत दिया गया स्पष्टीकरण नाकाफी और असंतोषजनक है।श्श् श्पाकिस्तान मुस्लिम लीग.कायदे आजमश् यपीएमएल.क्यूद्ध की ओर से पेश किए प्रस्ताव में अमेरिकी विधेयक की घोर निंदा की गयी है। प्रस्ताव में इसे पाकिस्तान की संप्रभुता एवं संयुक्त राष्ट्र चार्टर का उल्लंघन करार दिया गया है। गौरतलब है कि पाकिस्तान की संसद का निचला सदन श्नेशनल असेंबलीश् पहले ही निगरानी एवं जांच संबंधी अमेरिकी विदेश मामलों की उप.समिति की ओर से बलूचिस्तान के मुद्दे पर की गयी हालिया सुनवाई की निंदा कर चुका है। पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय ने सोमवार को कार्यवाहक अमेरिकी राजदूत को तलब कर बलूचिस्तान मुद्दे पर पेश किए गए विधेयक को लेकर कड़ा एतराज जताया था।


समयः
13%44