राष्ट्रीय

भाजपा में UP CM पद की दौड़ में दिनेश शर्मा सबसे आगे

भाजपा में UP CM पद की दौड़ में दिनेश शर्मा सबसे आगे

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष दिनेश शर्मा उत्तर प्रदेश में भाजपा की ओर से मुख्यमंत्री पद का चेहरा हो सकते हैं। वर्तमान में लखनऊ के मेयर और एक कॉलेज में प्रोफेसर शर्मा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पार्टी अध्यक्ष अमित शाह के बेहद करीबी हैं। शर्मा प्रदेश की राजनीति में किसी गुट में नहीं बंधे हैं यही बात उनके पक्ष में जा रही है। विधानसभा चुनावों में भाजपा अपनी जीत के प्रति आश्वस्त नजर आ रही है और चूंकि वर्तमान प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य ओबीसी वर्ग से हैं इसलिए मुख्यमंत्री पद पर सर्वण चेहरा पेश किया जा सकता है।

 
शर्मा की मोदी से करीबी उस समय उजागर हो गयी थी जब 2014 के लोकसभा चुनावों के तुरंत बाद उन्हें गुजरात में पार्टी का प्रभारी बना दिया गया था। यही नहीं अमित शाह ने जब बतौर अध्यक्ष पार्टी का सदस्यता अभियान शुरू किया तो उसकी जिम्मेदारी दिनेश शर्मा को ही सौंपी गयी थी। इस अभियान के तहत पार्टी ने दस करोड़ सदस्य बनाने की बात कहते हुए खुद के विश्व की सबसे ज्यादा सदस्यों वाली राजनीतिक पार्टी बनने का दावा किया था।
 
हनुमानजी के अनन्य भक्त शर्मा सौम्य स्वभाव के हैं और कोई विवाद भी उनके साथ नहीं जुड़ा है। वह दूसरी बार लखनऊ के मेयर हैं और पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के लखनऊ का सांसद रहने के दौरान उनके साथ भी काम कर चुके हैं। पंडित दीनदयाल उपाध्याय के साथ शर्मा के पिताजी का काफी जुड़ाव रहा है इसलिए राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ भी उनके नाम पर राजी बताया जा रहा है। पिछले साल दशहरा पर लखनऊ में प्रधानमंत्री का सफल कार्यक्रम कराने का श्रेय भी उन्हीं को गया था।
 
मुख्यमंत्री पद के लिए चल रहे नामों में केंद्रीय मंत्री कलराज मिश्रा, स्मृति ईरानी और उमा भारती के अलावा गोरखपुर के सांसद योगी आदित्यनाथ का नाम भी चल रहा है लेकिन पार्टी केंद्र से कोई नेता भेजने की बजाय स्थानीय नेता को ही तवज्जो देने के मूड में है। 
 

सम्बंधित खबरें

खबरें