1. फिर केन्द्र में आया उत्तर प्रदेश के पुनर्गठन का मुद्दा

    फिर केन्द्र में आया उत्तर प्रदेश के पुनर्गठन का मुद्दा

    मायावती ने रविवार को गोरखपुर में आयोजित एक जनसभा में कहा था कि अगर प्रदेश में बसपा की सरकार आती है तो वह उत्तर प्रदेश को पूर्वांचल समेत चार छोटे राज्यों में बांट देगी।

  2. अयोध्या में भाजपा, अमेठी में कांग्रेस की प्रतिष्ठा दाँव पर

    अयोध्या में भाजपा, अमेठी में कांग्रेस की प्रतिष्ठा दाँव पर

    पांचवें चरण के चुनाव में राजनीतिक परिवारों की नई पीढ़ी खूब फलती−फूलती नजर आ रही है। सियासी मैदान में लोकतंत्र के कई नए योद्धा पूरी ताकत के साथ डटे हुए हैं।

  3. ‘मण्डल-कमण्डल’ ने किया वामदलों को उप्र की सियासत से ओझल

    ‘मण्डल-कमण्डल’ ने किया वामदलों को उप्र की सियासत से ओझल

    साम्यवाद का झंडा बुलंद करके कभी उत्तर प्रदेश की राजनीति में भी दखल रखने वाले वामपंथी दल 1990 के दशक से मण्डल-कमण्डल की राजनीति के जोर पकड़ने के बाद धीरे-धीरे इस सूबे के सियासी परिदृश्य से ओझल हो गये।

  4. घर के साथ चुनावी मोर्चे पर भी डटी हैं नेताओं की पत्नियां

    घर के साथ चुनावी मोर्चे पर भी डटी हैं नेताओं की पत्नियां

    इस बार उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के महासंग्राम में कई नेताओं की पत्नियां अपने-अपने पतियों की मदद करने और उनकी राजनीतिक विरासत को आगे बढ़ाने में जुटी हैं।

  5. कौएद से अखिलेश को नुकसान या मायावती को फायदा?

    कौएद से अखिलेश को नुकसान या मायावती को फायदा?

    ‘चढ़ गुंडों की छाती पर, मुहर लगाएं हाथी पर’ का नारा देने वाली बसपा की मुखिया ने ना सिर्फ कौएद का बसपा में विलय कराया, बल्कि उसे तीन टिकट भी दे दिया, जिनमें मउ से माफिया मुख्तार का नाम भी शामिल है।

  6. मुलायम ऐसा-वैसा ना बोल दें इसलिए किये गये नजरबंद!

    मुलायम ऐसा-वैसा ना बोल दें इसलिए किये गये नजरबंद!

    एक चर्चा आम होती जा रही है कि मुलायम को उनके घर में ही नजरबंद कर दिया गया है ताकि वह जनता या मीडिया के बीच जाकर कुछ ऐसा न बोल दें जिससे अखिलेश के मिशन 2017 पर ग्रहण न लग जाये।

  7. बसपा के भयमुक्त सरकार देने के वादे की खुली पोल

    बसपा के भयमुक्त सरकार देने के वादे की खुली पोल

    बसपा कह रही थी कि जब उनकी सरकार बनेगी तब सपा सरकार का एक भी गुंडा व अपराधी जेल जाने से नहीं बच सकेगा। क्या यही भय दिखाकर मायावती ने अब सपा के बाहुबली अपराधी किस्म के लोगों को अपने दल में शामिल करना शुरू कर दिया है।

  8. सिद्धू के आने से पंजाब कांग्रेस में बढ़ सकती है कलह

    सिद्धू के आने से पंजाब कांग्रेस में बढ़ सकती है कलह

    अमरिन्दर को कांग्रेस हाईकमान का दबाव या हस्तक्षेप मंजूर नहीं है। वहीं सिद्धू को राहुल गांधी ने कांग्रेस में शामिल किया है। इसलिए पंजाब कांग्रेस में इन्हें हाईकमान का प्रतिनिधि माना जायेगा।

  9. छोटे दल: देखन में छोटे लगें, चोट करें गम्भीर

    छोटे दल: देखन में छोटे लगें, चोट करें गम्भीर

    चुनावी मौसम आते ही छोटी पार्टियां और ऐसे दलों के गठबंधन वजूद में आ जाते हैं। विशेष जाति या उपजातियों में पैठ रखने वाले ये दल विभिन्न सीटों पर पांच से 10 हजार वोट घसीटकर कई बार प्रमुख दलों को नुकसान पहुंचाते हैं।

  10. मुलायम की हार में भी जीत, सब कुछ लुटा बैठे शिवपाल

    मुलायम की हार में भी जीत, सब कुछ लुटा बैठे शिवपाल

    सपा में मुलायम युग समाप्त हो चुका है। कल तक पार्टी को अपनी जागीर समझने वाले बुजुर्ग समाजवादी नेता या तो आज अखिलेश के पीछे खड़े हैं, या फिर हाशिये पर पहुंच गये हैं।

  11. गठबंधन से कांग्रेस आलाकमान खुश, कार्यकर्ता निराश

    गठबंधन से कांग्रेस आलाकमान खुश, कार्यकर्ता निराश

    गठबंधन से कांग्रेस के बड़े नेता तो खुश हैं लेकिन जमीन पर काम करने वाले कांग्रेसी जो चुनाव लड़ने का मन बनाये हुए थे, उनमें हताशा घर कर गई है। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष राज बब्बर खुद भी स्वीकारते हैं कि गठबंधन से कार्यकर्ता निराश होते हैं।

  12. चुनाव आते ही मुस्लिमों को दिखाया जाने लगा भाजपा ''भय''

    चुनाव आते ही मुस्लिमों को दिखाया जाने लगा भाजपा ''भय''

    भाजपा से भयभीत मुसलमानों का आज तक न तो कांग्रेस कोई भला कर पाई है और न ही सपा−बसपा जैसे क्षेत्रीय दलों ने कुछ ऐसा किया है जिससे हिन्दुस्तान के मुसलमानों का उद्धार हुआ हो। फिर भी मुसलमान इन दलों के पीछे हाथ बांधे खड़ा रहता है।