1. सूर्य चिकित्सा में सूर्य की किरणें ही उपचार का साधन

    सूर्य चिकित्सा में सूर्य की किरणें ही उपचार का साधन

    सूर्य की किरणों के सात रंगों की अपनी−अपनी विशेषताएं हैं जिनके आधार पर इन्हें विभिन्न बीमारियों के इलाज के लिए चुना जाता है किसी भी रोग के उपचार के लिए इन रंगों का उपयोग स्वतंत्र रूप से किया जाना चाहिए।

  2. मात्र फल ही नहीं पोषक तत्वों से भी भरपूर है किवी

    मात्र फल ही नहीं पोषक तत्वों से भी भरपूर है किवी

    फल कोई भी हो हमारे सेहत के लिए अच्छे ही होते हैं लेकिन क्या आपको पता है एक ऐसा फल भी है जिसमें एक या दो नहीं बल्कि 27 के आसपास पोषक तत्व पाये जाते हैं।

  3. मधुमेह रोगियों को लेना चाहिए योग का सहारा

    मधुमेह रोगियों को लेना चाहिए योग का सहारा

    यह बेहद आवश्यक है कि कुछ ऐसे उपाय किए जाएं, जिससे आपका शुगर कंट्रोल में रहे। मधुमेह को नियंत्रित रखने में योग आपके काफी काम आ सकता है। तो आईए जानते हैं मधुमेह को कंट्रोल करने वाले कुछ योगासनों के बारे में−

  4. दिव्य औषधीय गुणों से भरपूर है करेला

    दिव्य औषधीय गुणों से भरपूर है करेला

    अच्छी सब्जी होने के साथ−साथ करेले में दिव्य औषधीय गुण भी होते हैं। यह दो प्रकार का होता है बड़ा तथा छोटा करेला। बड़ा करेला गर्मियों के मौसम में पैदा होता है जबकि छोटा करेला बरसात के मौसम में।

  5. कैंसर से बचाती है ब्रोकोली, वजन कम करने में भी मददगार

    कैंसर से बचाती है ब्रोकोली, वजन कम करने में भी मददगार

    अपने स्वास्थ्य के प्रति सचेत और वजन कम करने की इच्छा रखने वाले लोगों के लिए ब्रोकोली अच्छा विकल्प है। ऐसा माना जाता है कि ब्रोकोली भूमध्यसागरीय उपज है। ब्रोकोली लैटिन शब्द ''ब्रैक्यिम'' से बना है जिसका मतलब है शाखा।

  6. आयुर्वेद में हैं स्मरण शक्ति बढ़ाने वाली कई जड़ी बूटियाँ

    आयुर्वेद में हैं स्मरण शक्ति बढ़ाने वाली कई जड़ी बूटियाँ

    जीवन के विभिन्न क्षेत्रों में सफलता के लिए अच्छी स्मरण शक्ति का खासा महत्व है इसलिए अच्छी स्मरण शक्ति की नींव बचपन से ही डाली जानी चाहिए।

  7. भगवान माने जाने वाले डॉक्टर खुद ही बदल रहे रूप

    भगवान माने जाने वाले डॉक्टर खुद ही बदल रहे रूप

    ऐसा देखा गया है कि डॉक्टरी के पवित्र पेशे में भी ऐसे लोग घुस गए हैं जो समर्पण और त्याग के स्थान पर मरीज को लूटने में लग गए हैं। यही कारण है कि धरती का भगवान शैतान के रूप में दिखाई देने लगा है।

  8. ठंडक के साथ-साथ पोषण भी देता है नारियल पानी

    ठंडक के साथ-साथ पोषण भी देता है नारियल पानी

    गर्मियों की तपिश मिटाने के लिए अक्सर लोग सॉफ्ट ड्रिंक का सहारा लेते हैं पर इनसे सिर्फ कुछ पलों की प्यास बुझती है। साथ में इसमें मौजूद चीनी की अत्यधिक मात्रा मोटापे को न्योता देती है।

  9. टहलने से समाजीकरण के साथ स्वास्थ्य लाभ भी

    टहलने से समाजीकरण के साथ स्वास्थ्य लाभ भी

    टहलने से जहां हमारा समाजीकरण होता है वहीं स्वास्थ्य लाभ भी मिलता है। टहलना अत्यन्त सरल तथा लाभप्रद व्यायाम है। कब्ज से परेशान लोगों को तो अवश्य ही टहलना चाहिए।

  10. स्वास्थ्य के लिए वरदान माना जाता है पुदीना

    स्वास्थ्य के लिए वरदान माना जाता है पुदीना

    बारिश हो या सर्दी की सुबह पुदीने की चाय पीकर देखिए। यह बेहद फायदेमंद होती है। तन-मन में स्फूर्ति आ जाती है। पुदीने को सबसे पुराना और लोकप्रिय हर्ब माना जाता है।

  11. अकसर सिरदर्द? चिड़चिड़ापन भी? एनीमिया हो सकता है

    अकसर सिरदर्द? चिड़चिड़ापन भी? एनीमिया हो सकता है

    एनीमिया जिसे साधारण भाषा में ''खून की कमी होना'' भी कहते हैं, से विश्व की लगभग 60 प्रतिशत महिलाएं पीड़ित हैं। भारत की स्थिति तो और भी खराब है। यह बीमारी पुरुषों को भी हो सकती है।

  12. बच्चों का बिस्तर गीला करना आम समस्या है

    बच्चों का बिस्तर गीला करना आम समस्या है

    बच्चों द्वारा बिस्तर गीला करना बहुत आम समस्या है। बच्चा तीन वर्ष की आयु तक अपने मूत्राशय पर काबू पा लेता है। अतः यदि तीन वर्ष से अधिक आयु का बच्चा बिस्तर गीला करता है तो ही इसे असामान्य मानना चाहिए।