Prabhasakshi Logo
शनिवार, जुलाई 22 2017 | समय 20:28 Hrs(IST)
ब्रेकिंग न्यूज़
Ticker Imageनोटबंदी और जीएसटी से बढ़ेगा कर आधारः वित्त मंत्रीTicker Imageअमेरिका ने जम्मू-कश्मीर के विवरण में विसंगति की बात स्वीकारीTicker Imageबिहार में निर्माणाधीन रेल ऊपरी पुल का एक हिस्सा ढहा, दो की मौतTicker Imageगुजरात के सौराष्ट्र में बाढ़ जैसी स्थिति, तीन की मौतTicker Imageअन्नाद्रमुक में कोई विभाजन नहीं हुआ: थम्बीदुरईTicker Imageमेरा चुनाव लड़ने का अभी कोई इरादा नहीं: हार्दिक पटेलTicker Imageकेंद्र सरकार ने किया नौकरशाही में बड़ा फेरबदलTicker Imageआधार अनिवार्य करना है तो इसे मतदाता पहचान पत्र से जोड़ेंः येचुरी

अंतर्राष्ट्रीय

अमेरिका, भारत के रक्षा संबंध सही मार्ग पर हैं: कार्टर

By admin@PrabhaSakshi.com | Publish Date: Jan 11 2017 12:49PM
अमेरिका, भारत के रक्षा संबंध सही मार्ग पर हैं: कार्टर

वाशिंगटन। अमेरिका के निवर्तमान रक्षा मंत्री एश्टन कार्टर ने आज कहा कि भारत एवं अमेरिका के रक्षा संबंध सही मार्ग पर हैं और दोनों देश तकनीक के आदान प्रदान और सह निर्माण के माध्यम से इस साझेदारी को विकसित करने के तरीकों पर चर्चा कर रहे हैं। कार्टर ने पेंटागन में बतौर रक्षा मंत्री अपने अंतिम संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘हम सही मार्ग पर हैं। यह केवल इन कदमों को उठाने की बात है और कई माध्यमों से हमारा सहयोग मजबूत हो रहा है। मेरा मतलब है, इसमें कई प्रकार की गतिविधियां शामिल हैं।’’

 
कार्टर ने पिछले वर्षों में अमेरिका एवं भारत के संबंधों को मजबूत बनाने में अहम भूमिका निभाई है और पिछले कुछ वर्षों में उन्होंने विश्व के दो बड़े लोकतांत्रिक देशों के बीच संबंधों को बहुत प्रोत्साहित किया है। उन्होंने पिछली गर्मियों में भारत को अमेरिका का एक अहम रक्षा साझेदार घोषित किए जाने में मुख्य भूमिका निभाई थी। कार्टर ने एक प्रश्न के उत्तर में कहा, ''मेरा मानना है कि इस मामले में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एवं रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर की सोच भी मेरी एवं अमेरिका के राष्ट्रपति ओबामा की तरह ही है। हमारा नई तकनीक के लिए रक्षा संबंधों को विकसित करने की ओर झुकाव रहा है जिसके लिए प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में आदान प्रदान, सह निर्माण एवं अन्य बातें शामिल हैं।’’
 
उन्होंने कहा, ‘‘हमारी कई परियोजनाएं हैं। मैं कुछ समय पहले नयी दिल्ली में था और मैंने इन सभी पर चर्चा की। उनके पूरा होने की अपनी तय योजना एवं एक प्रकार की तकनीकी समय सीमा है।’’ कार्टर ने कहा, ''मैंने कई बार कहा है कि दोनों समाजों की प्रकृति, हमारे साझे मूल्यों और हमारे लोगों के बीच मानवीय संबंधों के कारण इन संबंधों का भविष्य में आगे बढ़ना तय है।’’