Prabhasakshi
बुधवार, नवम्बर 22 2017 | समय 20:18 Hrs(IST)

अंतर्राष्ट्रीय

पाक में की गयी कार्रवाई में 24 से अधिक आतंकी मारे गये

By admin@PrabhaSakshi.com | Publish Date: Feb 17 2017 4:16PM
पाक में की गयी कार्रवाई में 24 से अधिक आतंकी मारे गये

इस्लामाबाद। सिंध के सहवान में लाल शहबाज कलंदर सूफी दरगाह पर आईएसआईएस के आत्मघाती हमलावर द्वारा खुद को उड़ा लेने से हुए विस्फोट के एक दिन बाद पाकिस्तानी सुरक्षा बलों की देशभर में की गई कार्रवाई में आज 24 से अधिक आतंकवादी मारे गए। इस आत्मघाती हमले में 76 लोगों की मौत हो गई थी। पैरामिलिट्री सिंध रेंजर्स ने आज बताया कि दक्षिणी प्रांत में रातभर चले उनके अभियानों में 18 आतंकवादी मारे मारे गए। रेंजर्स के अनुसार सिंध के काठोर के निकट सुपर हाईवे पर अर्धसैन्य बलों के एक काफिले पर सात आतंकवादियों ने हमला किया जिसके बाद हुई मुठभेड़ में वे मारे गए।

 
काफिला बचाव अभियान में भाग लेने के बाद सहवान कस्बे से लौट रहा था। इस दौरान एक जवान भी घायल हो गया। रेंजर्स के अनुसार कराची के मांघोपीर इलाके में एक छापेमारी में 11 अन्य आतंकवादी मारे गए। इसके अलावा पश्चिमोत्तर खबर पख्तूनख्वा में पुलिस ने कहा कि उन्होंने अशांत प्रांत में 11 चरमपंथियों को मार गिराया। एक सुरक्षा अधिकारी ने बताया कि पुलिस ने पेशावर के रेग्गी इलाके में तीन आतंकवादियों को मार गिराया और सेना की कार्रवाई में ओरकजई में चार आतंकवादी मारे गए। खबर पख्तूनख्वा के बन्नू इलाके में हुई मुठभेड़ में चार आतंकवादी मारे गए।
 
अधिकारियों ने बताया कि आगामी दिनों में कार्रवाई और तेज कर दी जाएगी क्योंकि सरकार ने आतंकवाद का सफाया करने का संकल्प लिया है। पाकिस्तान में सप्ताहांत से हुए कम से कम आठ आतंकवादी हमलों के बाद संघीय एवं प्रांतीय सरकारों ने एक साथ कार्रवाई शुरू की है। प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की अध्यक्षता वाली एक उच्च स्तरीय बैठक में इस सप्ताह इस बात पर सहमति जताई गई कि राष्ट्रीय सुरक्षा को खतरा पैदा करने वाले आतंकवादियों को ‘मिटा दिया’ जाना चाहिए। अधिकारियों ने बताया कि दरगाह में हुए विस्फोट में घायल हुए कई लोगों की हालत नाजुक हैं और उन्हें कराची के अस्पताल में ले जाया जाएग। सेना ने कहा कि सशस्त्र बल सभी आवश्यक संसाधनों की मदद से बचाव प्रयास कर रहे हैं। पाकिस्तानी सेना एवं रेंजर्स ने बचाव प्रयासों में मदद की। सिंध में शिया दरगाह पर हुए हमले की जिम्मेदारी आईएसआईएस ने ली है। दरगाह को सील कर दिया गया है। पुलिस ने प्रारंभिक सबूत एकत्र कर लिए हैं और सीसीटीवी फुटेज हासिल कर ली है।