Prabhasakshi
मंगलवार, दिसम्बर 12 2017 | समय 04:06 Hrs(IST)

राष्ट्रीय

नयी पीढ़ी को मिलेगी कांग्रेस की कमान, राहुल की ताजपोशी का कार्यक्रम घोषित

By नीरज कुमार दुबे | Publish Date: Nov 20 2017 10:13AM
नयी पीढ़ी को मिलेगी कांग्रेस की कमान, राहुल की ताजपोशी का कार्यक्रम घोषित
कांग्रेस के अगले अध्यक्ष के चुनाव के कार्यक्रम पर कांग्रेस वर्किंग कमेटी (सीडब्ल्यूसी) ने आज मुहर लगा दी जिसकी प्रक्रिया एक दिसंबर से शुरू होगी। इससे गुजरात विधानसभा चुनावों से पहले पार्टी उपाध्यक्ष राहुल गांधी के हाथ में कांग्रेस की कमान आने का रास्ता साफ हो गया है। कांग्रेस के केंद्रीय चुनाव प्राधिकार के अध्यक्ष मुल्लापल्ली रामचंद्रन की ओर से जारी वक्तव्य के अनुसार कांग्रेस अध्यक्ष के निर्वाचन के लिए अधिसूचना एक दिसंबर को जारी की जाएगी और इस दिन से उम्मीदवार नामांकन दाखिल करना शुरू कर सकते हैं। नामांकन की आखिरी तारीख चार दिसंबर (अपराह्न तीन बजे तक) होगी।
 
पांच दिसंबर को नामांकन पत्रों की छंटनी के बाद इसी दिन अपराह्न साढ़े तीन बजे तक वैध नामांकनों की सूची घोषित कर दी जाएगी। हालांकि पार्टी सूत्रों का कहना है कि पार्टी के अध्यक्ष पद के लिए राहुल गांधी के एकमात्र उम्मीदवार होने की संभावना है और इसी दिन यानी पांच दिसंबर को ही अगले पार्टी अध्यक्ष के रूप में उनके नाम का ऐलान हो सकता है। इस तरह नौ और 14 दिसंबर को दो चरणों में होने वाले गुजरात विधानसभा चुनावों से पहले राहुल के कांग्रेस अध्यक्ष बनने की संभावना है। हालांकि कांग्रेस के चुनाव कार्यक्रम के अनुसार पार्टी अध्यक्ष पद के लिए नाम वापस लेने की आखिरी तारीख 11 दिसंबर (अपराह्न तीन बजे तक) है और अंतिम सूची इसी दिन शाम चार बजे तक जारी कर दी जाएगी।
 
बयान के अनुसार आवश्यकता पड़ने पर मतदान 16 दिसंबर को होगा। यदि मतदान हुआ तो मतगणना के बाद परिणाम की घोषणा 19 दिसंबर को की जाएगी। सीडब्ल्यूसी की आज हुई इस बैठक की शुरूआत में सदस्यों ने समिति के वरिष्ठ सदस्य रहे माखन लाल फोतेदार के निधन पर शोक प्रस्ताव पारित किया। फोतेदार का इस साल सितंबर में निधन हो गया था।
 
बैठक में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने संसद का शीतकालीन सत्र परंपरागत तरीके से आयोजित नहीं होने तथा नोटबंदी, जीएसटी, बेरोजगारी समेत अनेक मुद्दों पर मोदी सरकार पर तीखा हमला बोला। सूत्रों के अनुसार राहुल गांधी ने बैठक में कहा कि प्रत्येक कांग्रेस कार्यकर्ता को गुजरात में होने वाले विधानसभा चुनावों पर ध्यान केंद्रित रखना चाहिए जहां उसका मुकाबला 22 साल से सत्ता में बनी हुई भाजपा से है। सीडब्ल्यूसी की बैठक में पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और पार्टी महासचिवों ने भाग लिया। पार्टी को संगठन के चुनाव 31 दिसंबर से पहले पूरे करने हैं।