Prabhasakshi
शुक्रवार, जनवरी 19 2018 | समय 05:22 Hrs(IST)

राष्ट्रीय

प्रधानमंत्री को अपशब्द कहना अय्यर को महँगा पड़ा, कांग्रेस से निलंबित

By नीरज कुमार दुबे | Publish Date: Dec 7 2017 9:21PM
प्रधानमंत्री को अपशब्द कहना अय्यर को महँगा पड़ा, कांग्रेस से निलंबित
कांग्रेस ने अपने नेता मणिशंकर अय्यर द्वारा प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को ‘नीच आदमी’ कहकर नया राजनीतिक विवाद पैदा होने करने के बाद उन्हें कारण बताओ नोटिस जारी किया और पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से निलंबित कर दिया। कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा, ‘‘यही है कांग्रेस का गांधीवादी नेतृत्व और विरोधी के प्रति सम्मान की भावना’’। उन्होंने कहा कि क्या प्रधानमंत्री भी यह साहस दिखायेंगे।
 
उन्होंने ट्वीट कर कहा, ‘‘कांग्रेस पार्टी ने श्री मणिशंकर अय्यर को कारण बताओ नोटिस जारी कर प्राथमिक सदस्यता से निलंबित कर दिया है।’’ अय्यर ने प्रधानमंत्री मोदी के संविधान निर्माता डॉ. बीआर अंबेडकर के बारे में एक बयान पर प्रतिक्रिया जताते हुए कहा, ‘‘ये बहुत नीच किस्म का आदमी है। इसमें कोई सभ्यता नहीं है और ऐसे मौके पर इस किस्म की गंदी राजनीति करने की क्या आवश्यकता है?’’ इससे पहले कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने अय्यर की टिप्पणी पर कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि वह एवं कांग्रेस, दोनों उम्मीद करते हैं कि अय्यर इस टिप्पणी के लिए माफी मांगेंगे।
 
राहुल ने ट्वीट कर कहा, ‘‘भाजपा एवं प्रधानमंत्री कांग्रेस पार्टी पर हमला करने के लिए नियमित तौर पर अभद्र भाषा का इस्तेमाल करते हैं। कांग्रेस की अलग संस्कृति और विरासत है। प्रधानमंत्री को संबोधित करने के लिए श्री मणिशंकर अय्यर द्वारा इस्तेमाल किये गये लहजे और भाषा को मैं पसंद नहीं करता हूं। कांग्रेस और मैं, दोनों उनसे यह उम्मीद करते हैं कि उन्होंने जो कुछ कहा, उसके लिए वह माफी मांगेंगे।’'
 
उल्लेखनीय है कि अय्यर ने विवादित बयान देते हुए गुजरात विधानसभा चुनावों में जोरशोर से प्रचार में जुटी कांग्रेस के लिए मुश्किलें खड़ी कर दी हैं। प्रधानमंत्री ने अय्यर के बयान के बाद पलटवार करते हुए कहा कि उनकी जाति को लेकर उन्हें निशाना बनाया जा रहा है। एक चुनावी रैली को संबोधित कर रहे मोदी ने कहा कि अय्यर का बयान गुजरात का ‘अपमान’ है।
 
इससे पहले कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा था कि अय्यर को अपने बयान के लिए माफी मांगनी चाहिए। अय्यर ने मीडिया से बातचीत में अपने बयान को अनुवाद की गलती करार दिया था लेकिन भाजपा जिस तरह इस मुद्दे पर आक्रामक हुई उससे कांग्रेस की मुश्किलें बढ़ती नजर आ रही थीं और गुजरात में बैकफुट पर आने से बचने के लिए गांधी परिवार के प्रति हमेशा वफादार रहे वरिष्ठ नेता पर कड़ी कार्रवाई की गयी है।
 
इससे पहले मोदी ने कहा, ‘‘श्रीमान मणिशंकर अय्यर ने आज कहा कि मोदी ‘नीच’ जाति का है और ‘नीच’ है। क्या यह गुजरात का अपमान नहीं है?’’ उन्होंने कहा, ‘‘यह मुगल मानसिकता है जहां अगर ऐसा कोई व्यक्ति किसी गांव में अच्छे कपड़े पहनता है तो उन्हें दिक्कत होती है।’’ 
 
इस मामले की शुरुआत तब हुई जब प्रधानमंत्री ने नयी दिल्ली में अंबेडकर अंतरराष्ट्रीय केंद्र का उद्घाटन करने के बाद कहा था कि अंबेडकर के नाम पर वोट मांगने वाली पार्टियों ने राष्ट्रनिर्माण में उनके योगदान को मिटाने की कोशिश की। मोदी के इस बयान पर उन पर हमला बोलते हुए अय्यर ने कहा, ‘‘वह (मोदी) नीच किस्म के आदमी हैं जिनकी कोई सभ्यता नहीं है।’’ मोदी ने सभा में कहा, ‘‘आपने मुझे 14 साल तक मुख्यमंत्री के रूप में और फिर प्रधानमंत्री के रूप में देखा है। क्या मैंने ऐसा कोई काम किया है जिसने आपको नीचा दिखाया हो? क्या मैंने कोई नीच काम किया है।’’ प्रधानमंत्री ने भाजपा कार्यकर्ताओं और समर्थकों से अय्यर के बयान पर कोई प्रतिक्रिया नहीं देने का आग्रह किया।