Prabhasakshi
शनिवार, जनवरी 20 2018 | समय 12:26 Hrs(IST)

राष्ट्रीय

सिब्बल ने सुप्रीम कोर्ट में एक कांग्रेस नेता के रूप में जिरह की थी: शाह

By anand@prabhasakshi.com | Publish Date: Dec 7 2017 9:38AM
सिब्बल ने सुप्रीम कोर्ट में एक कांग्रेस नेता के रूप में जिरह की थी: शाह

नयी दिल्ली। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने आरोप लगाया कि कपिल सिब्बल ने सुप्रीम कोर्ट में अपने हाईकमान के ईशारे पर एक कांग्रेस नेता के रूप में जिरह की थी जो राम मंदिर मुद्दे पर कांग्रेस के शर्मनाक चेहरे को रेखांकित करता है। शाह ने अपने बयान में कहा कि सुन्नी वक्फ बोर्ड के बयान से अब यह बिलकुल स्पष्ट हो चुका है कि कांग्रेस राम मंदिर की सुनवाई में रोड़े अटकाना चाहती है। कांग्रेस पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि राम मंदिर मुद्दे को लटकाए रखना कांग्रेस का छिपा एजेंडा है, वह इस मुद्दे पर अपनी राजनीतिक रोटियाँ सेंकना चाहती है। राम मंदिर पर कांग्रेस पार्टी का दोहरा रवैया अब जनता के सामने उजागर हो गया है।

शाह ने आरोप लगाया कि कांग्रेस ने हमेशा कपिल सिब्बल का उपयोग कर देश की जनता को गुमराह करने का काम किया है लेकिन कांग्रेस अब बच नहीं सकती क्योंकि देश की जनता के सामने कांग्रेस का नकाब उतर गया है। शाह ने सुप्रीम कोर्ट में कांग्रेस के बड़े नेता और वकील कपिल सिब्बल की दलील को लेकर हुए खुलासों पर कांग्रेस को आड़े हाथों लिया। उन्होंने कहा कि एक ओर गुजरात में राहुल गांधी के मंदिरों के चुनावी दौरे चल रहे हैं, वहीं दूसरी ओर श्री राम जन्मभूमि केस पर सुनवाई को टालने के लिए कपिल सिब्बल का उपयोग किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि राम मंदिर पर कांग्रेस पार्टी का दोहरा रवैया अब जनता के सामने उजागर हो गया है।

शाह ने कहा कि हमने भी मांग की थी कि कांग्रेस पार्टी को देश की जनता के सामने यह स्पष्ट करना चाहिए कि वह श्री राम जन्मभूमि विषय की जल्द सुनवाई के पक्ष में है या नहीं लेकिन इस तथ्य के सामने आ जाने के बाद कांग्रेस की मंशा बिलकुल स्पष्ट हो जाती है।उन्होंने कहा कि अब कांग्रेस पार्टी को खुल कर अपना एजेंडा जनता के सामने रख देना चाहिए।