Prabhasakshi Logo
रविवार, अगस्त 20 2017 | समय 05:38 Hrs(IST)
ब्रेकिंग न्यूज़
Ticker Imageशरद यादव अपने बारे में निर्णय लेने के लिए स्वतंत्रः नीतीशTicker Imageएनडीए का हिस्सा बना जदयू, अमित शाह ने किया स्वागतTicker Imageमुजफ्फरनगर के पास पटरी से उतरी उत्कल एक्सप्रेस, 6 मरे, 50 घायलTicker Imageटैरर फंडिंगः कश्मीरी कारोबारी को एनआईए हिरासत में भेजा गयाTicker Imageमहाराष्ट्र के सरकारी विभागों में भर्ती के लिए होगा पोर्टल का शुभारंभTicker Imageकॉल ड्रॉप को लेकर ट्राई सख्त, 10 लाख तक का जुर्माना लगेगाTicker Imageआरोपों से व्यथित, उचित समय पर जवाब दूंगा: नारायणमूर्तिTicker Imageबोर्ड ने सिक्का के इस्तीफे के लिए नारायणमूर्ति को जिम्मेदार ठहराया

राष्ट्रीय

शरद यादव को राज्यसभा में जदयू के नेता पद से हटाया गया

By admin@PrabhaSakshi.com | Publish Date: Aug 12 2017 5:52PM
शरद यादव को राज्यसभा में जदयू के नेता पद से हटाया गया

नयी दिल्ली। जनता दल (यू) ने राज्यसभा सदस्य शरद यादव को उच्च सदन में पार्टी के नेता पद से हटा दिया। पार्टी के एक वरिष्ठ नेता ने बताया कि उनकी जगह आरसीपी सिंह ने ली। यादव ने बिहार में भाजपा के साथ हाथ मिलाने के पार्टी के फैसले का विरोध किया था। पार्टी के एक वरिष्ठ नेता ने बताया कि इससे पहले राज्यसभा के सांसदों ने सभापति एम वेंकैया नायडू से मुलाकात की और उच्च सदन में सिंह को जदयू का नेता नियुक्त करने संबंधी पत्र उन्हें सौंपा। सिंह बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के विश्वासपात्र समझे जाते हैं। राज्यसभा में जदयू के 10 सदस्य हैं। इसके पहले पार्टी ने शुक्रवार रात अपने राज्यसभा सदस्य अली अनवर अंसारी को कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी द्वारा बुलाई गई विपक्षी दलों की बैठक में शामिल होने के कारण संसदीय दल से निलंबित कर दिया था।

नीतीश कुमार और शरद यादव के बीच मतभेद तब सामने आए थे जब पिछले महीने नीतीश ने कांग्रेस और राजद के साथ संबंध खत्म कर बिहार में नई सरकार बनाने के लिए भाजपा से हाथ मिला लिए थे।बिहार दौरे के दौरान शरद यादव ने कहा था कि उनका अभी भी यही मानना है कि वह राजद और कांग्रेस के साथ महागठबंधन का हिस्सा हैं। जदयू केवल नीतीश कुमार की ही पार्टी नहीं है बल्कि उनकी भी पार्टी है। यादव ने यह भी दावा किया था कि असल जदयू उनके साथ है जबकि नीतीश के साथ सरकारी जदयू है। इधर, भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने आज ट्वीट कर कहा कि सत्तारूढ़ राजग में शामिल होने के लिए नीतीश को उन्होंने आमंत्रित किया है।