Prabhasakshi Logo
गुरुवार, जुलाई 27 2017 | समय 02:24 Hrs(IST)
ब्रेकिंग न्यूज़
Ticker Imageनीतीश ने भाजपा के समर्थन से सरकार बनाने का दावा पेश कियाTicker Imageभाजपा ने दिया नीतीश को समर्थन, नीतीश ने मोदी को कहा शुक्रियाTicker Imageगुजरात से राज्यसभा चुनाव लड़ेंगे अमित शाह, स्मृति को भी मिला टिकटTicker Imageप्रधानमंत्री ने नीतीश को भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ने पर बधाई दीTicker Imageनीतीश ने इस्तीफा दिया, बिहार की राजनीति में बड़ा भूचालTicker ImageNitish Kumar resigns as Bihar Chief MinisterTicker Imageस्नैपडील निदेशक मंडल ने फ्लिपकार्ट से सौदे पर शेयरधारकों से राय मांगीTicker Imageयोगी को नहीं चलाना आ रहा शासन, सीबीआई से ना डराएंः अखिलेश

राष्ट्रीय

पूर्व प्रोफेसर ने भागवत को कहा आतंकी, एबीवीपी कार्यकर्ता भड़के

By admin@PrabhaSakshi.com | Publish Date: Mar 20 2017 2:36PM
पूर्व प्रोफेसर ने भागवत को कहा आतंकी, एबीवीपी कार्यकर्ता भड़के

बरेली। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ प्रमुख मोहन भागवत और संस्थापक एमएस गोलवलकर पर अमर्यादित टिप्पणी को लेकर बरेली कॉलेज में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) के कार्यकर्ताओं ने जमकर तोड़फोड़ और हंगामा किया। पुलिस सूत्रों ने आज यहां बताया कि बरेली कालेज में आयोजित दो दिवसीय संगोष्ठी में रविवार को मुख्य अतिथि की हैसियत से शिरकत कर रहे काशी हिन्दू विश्वविद्यालय के सेवानिवृत्त प्रोफेसर चौथी राम ने अपने सम्बोधन में संघ संस्थापक एमएम गोलवलकर तथा संघ प्रमुख मोहन भागवत को कथित रूप से ‘आतंकवादी’ कह दिया।

 
इसी बीच, एबीवीपी के कार्यकर्ताओं को इसकी भनक लगी और वे कार्यक्रम स्थल पहुंचकर ‘‘बरेली कॉलेज को जेएनयू नहीं बनने देंगे’’ के नारे लगाने लगे। प्रोफेसर के पक्ष में आये समाजवादी छात्र सभा के पूर्व जिलाध्यक्ष हृदयेश यादव और उनके समर्थक और एबीवीपी के कार्यकर्ता आपस में भिड़ गये। सूत्रों ने बताया कि हंगामा कर रहे कुछ छात्र आयोजन स्थल पर लगे बुक स्टाल पर पहुंच गए। वहां उन्होंने किताबें फेंक दीं और वहां पड़ी कुर्सियां, मेज तोड़ डाले। आनन-फानन में प्रोफेसर चौथी राम को कॉलेज से बाहर पहुंचा दिया गया। पदाधिकारियों ने संगोष्ठी कक्ष में ताला लगा दिया और संगोष्ठी को रद्द कर दिया गया। हालात बेकाबू होते देख पुलिस को सूचना दे दी गयी। संघ प्रमुख पर कथित अभद्र टिप्पणी की जानकारी मिलते ही इसके विरोध में संघ और विहिप के सदस्य भी बरेली कॉलेज पहुंच गए। इन सदस्यों ने वहां कई शिक्षकों को जमकर फटकार लगायी।
 
प्रोफेसर चौथी राम यादव ने कहा कि उनके बयान में कहीं भी संघ प्रमुख मोहन भागवत का जिक्र नहीं आया। जिस संदर्भ में अतिवाद की चर्चा हुई, उसका गलत अर्थ निकाला गया। भागवत को आतंकवादी कहने का प्रश्न ही नहीं। फिर भी अगर उनके बयान से किसी को ठेस पहुंची है, तो वह माफी मांगते हैं।
 
इस बीच, बरेली के अपर पुलिस अधीक्षक (नगर) समीर सौरभ ने बताया कि प्रोफेसर चौथी राम यादव के खिलाफ थाना बारादरी में देर रात मुकदमा दर्ज किया गया है। हालांकि कार्यक्रम की वीडियो फुटेज अभी उपलब्ध नहीं हुई है। बहरहाल, पुलिस जांच कर रही है। सुरक्षा की दृष्टि से आज सुबह से कालेज के बाहर कई थानों की पुलिस तथा अर्धसैनिक बल को तैनात किया गया है।