Prabhasakshi
बुधवार, सितम्बर 27 2017 | समय 03:24 Hrs(IST)
ब्रेकिंग न्यूज़
Ticker Imageनिर्मला ने की अमेरिकी रक्षामंत्री से बात, अफगान में सैनिक नहीं भेजेगा भारतTicker Imageयोगी सरकार ने बीएचयू प्रकरण की न्यायिक जांच के दिये आदेशTicker Imageगुजरात में हमारी सरकार बनी तो दिल्ली के आदेशों से नहीं चलेगीः राहुलTicker Imageमोदी-राजनाथ कश्मीर में शांति के लिए कदम उठा रहेः महबूबाTicker Imageप्रशांत शिविर से शरणार्थियों का पहला समूह अमेरिका के लिये रवानाTicker Imageफिलिपीन: राष्ट्रपति के घर के निकट हुई गोलीबारीTicker Imageमारुति वैगन आर की बिक्री 20 लाख आंकड़े के पारTicker Imageयरूशलम के चर्च में कोंकणी भजन पट्टिका का अनावरण

पंजाब

लांबी में मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल पर जूता फेंका गया

By admin@PrabhaSakshi.com | Publish Date: Jan 11 2017 5:30PM
लांबी में मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल पर जूता फेंका गया

लांबी (मुक्तसर)। पंजाब के मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल पर यहां रत्ता खेड़ा गांव में चुनाव प्रचार के दौरान एक कट्टरपंथी सिख नेता के एक रिश्तेदार ने आज जूता फेंक दिया। पुलिस ने बताया कि 40 वर्षीय गुरबचन सिंह ने बादल की ओर कथित तौर पर जूता फेंका, जो पहले तो सुरक्षाकर्मी को लगा और फिर 89 वर्षीय बादल की पगड़ी को छुआ। मुक्तसर के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ध्रुमन एच निम्बाले ने आज बताया कि एक कट्टरपंथी सिख नेता के रिश्तेदार गुरूबचन सिंह ने पंजाब के मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल पर जूता फेंका।

 
निम्बाले ने बताया कि बादल की सुरक्षा में तैनात एक सुरक्षा अधिकारी ने अपने हाथ से जूता रोकने की कोशिश की। सुरक्षाकर्मी को लगने के बाद जूता मुख्यमंत्री की पगड़ी को छू गया। इस घटना में बादल को कोई चोट नहीं लगी। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने बताया कि यह घटना रत्ता खेड़ा गांव में हुई जहां बादल अपने चुनाव प्रचार के दौरान एक जन सभा में व्यस्त थे। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री के अपना भाषण पूरा करने के ठीक बाद गुरबचन ने एक जूता उनकी ओर उछाला।
 
एसएसपी ने बताया कि गुरबचन कट्टरपंथी सिख नेता अमरीक सिंह अजनाला के भाई हैं। ‘‘पंजाब में अपवित्रीकरण की घटनाओं को लेकर वह परेशान नजर आ रहे थे।’’ उन्हें पकड़ा नहीं गया है। उन्होंने बताया कि आरोपी के खिलाफ एक मामला दर्ज किया जाएगा। गौरतलब है कि कुछ दिन पहले लोगों के एक समूह ने उपमुख्यमंत्री सुखबीर सिंह बादल के काफिले पर फजीलका जिला स्थित उनके जलालाबाद क्षेत्र में पथराव किया था।