Prabhasakshi
बुधवार, सितम्बर 27 2017 | समय 03:09 Hrs(IST)
ब्रेकिंग न्यूज़
Ticker Imageनिर्मला ने की अमेरिकी रक्षामंत्री से बात, अफगान में सैनिक नहीं भेजेगा भारतTicker Imageयोगी सरकार ने बीएचयू प्रकरण की न्यायिक जांच के दिये आदेशTicker Imageगुजरात में हमारी सरकार बनी तो दिल्ली के आदेशों से नहीं चलेगीः राहुलTicker Imageमोदी-राजनाथ कश्मीर में शांति के लिए कदम उठा रहेः महबूबाTicker Imageप्रशांत शिविर से शरणार्थियों का पहला समूह अमेरिका के लिये रवानाTicker Imageफिलिपीन: राष्ट्रपति के घर के निकट हुई गोलीबारीTicker Imageमारुति वैगन आर की बिक्री 20 लाख आंकड़े के पारTicker Imageयरूशलम के चर्च में कोंकणी भजन पट्टिका का अनावरण

पंजाब

पंजाब के नेताओं ने अरविंद केजरीवाल को स्वार्थी कहा

By admin@PrabhaSakshi.com | Publish Date: Jan 11 2017 5:42PM
पंजाब के नेताओं ने अरविंद केजरीवाल को स्वार्थी कहा

जालंधर। पंजाब में मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार के रूप में अरविंद केजरीवाल को ‘समझने’ के आम आदमी पार्टी के बयान पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए विभिन्न राजनीतिक दलों के नेताओं ने कहा है कि केजरीवाल स्वार्थी, अस्थिर और खयालों में रहने वाले हैं। वह राजनीति में तो आ गए हैं लेकिन विकास से उनका कोई लेना देना नहीं है और यही कारण है कि उनकी पार्टी केवल बयानबाजी करती रहती है।

 
कांग्रेस, भाजपा, शिअद और अपना पंजाब सहित तमाम दलों ने आप नेता मनीष सिसोदिया के इस बयान की आलोचना की है और व्यंग्य किया है। सिसोदिया ने कहा था कि पंजाब के लोग मानकर चलें कि अरविंद केजरीवाल ही राज्य में मुख्यमंत्री पद के दावेदार हैं। पंजाब प्रदेश कांग्रेस के उपाध्यक्ष सतनाम सिंह कैंथ ने इस बारे में कहा, ‘‘केजरीवाल दरअसल अस्थिर व्यक्ति हैं। उन्हें पता ही नहीं है कि क्या करना है और क्या बोलना है। यह सब ‘बदलते दिमाग’ का नतीजा है। पंजाब को चलाने के लिए बाहर के लोगों की आवश्यकता नहीं है।’’ कैंथ ने कहा, ‘‘क्या आम आदमी पार्टी को पंजाब में कोई ऐसा व्यक्ति नहीं मिला जो मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार बने। क्या पार्टी को पंजाब के लोगों पर भरोसा नहीं है। केजरीवाल को यह स्पष्ट करना चाहिए। पहले ही वह यहां भ्रष्ट लोगों की फौज भेज चुके हैं जिसके बारे में अब उनकी ही पार्टी के लोग आरोप लगा रहे हैं।’’
 
दूसरी ओर भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता रजत कुमार मोहिंद्रू ने चुटकी लेते हुए कहा, ‘‘दिल के, बहलाने को गालिब यह खयाल अच्छा है।’’ मोहिंद्रू ने कहा, ‘‘हमेशा खयालों में जीने वाले केजरीवाल को 11 मार्च तक खयाली पुलाव पका लेने दीजिए। दिल्ली में आप की सरकार बन गयी है और वहां के लोगों को केवल धोखा ही मिला है तथा अब केजरीवाल पंजाब को धोखा देने के लिए यहां आने का प्रयास कर रहे हैं।’’ उन्होंने कटाक्ष किया, ‘‘अभी देखते जाइये, जल्दी ही वह (केजरीवाल) गोवा में भी मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार हो जायेंगे क्योंकि वह काम तो कर नहीं रहे हैं तो कुछ भी कहकर उनकी पार्टी पंजाब में लोगों का मनोरंजन कर रही है। ठीक वैसे ही जैसे एक समय बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद किया करते थे।’’
 
इससे पहले रजत और कैंथ ने कहा, ‘‘पंजाब के लोगों को पता है कि उनका मुख्यमंत्री कौन होगा क्योंकि आवाम को ‘आयात’ किया हुआ और ‘शोषण करने वाला’ नहीं, बल्कि स्थानीय नेता चाहिए जो स्थानीय समस्याओं को जानता हो, न कि बाहरी व्यक्ति जिसे सूबे के बारे में न तो कोई जानकारी है और न ही यहां की कोई चिंता। ऐसा व्यक्ति यहां के संसाधनों की क्या सुरक्षा कर सकेगा।’’ इससे पहले आम आदमी के पूर्व प्रदेश संयोजक तथा अपना पंजाब पार्टी के नेता सुच्चा सिंह छोटेपुर ने कहा, ‘‘केजरीवाल का चेहरा बेनकाब हो गया है। उन्हें न तो पंजाब से प्यार है और न ही पंजाबियत की कद्र है। इसलिए वह दूसरों से इस तरह की बयानबाजी करवा रहे हैं।’’
 
इससे पहले कांग्रेस नेता कैंथ ने यह आशंका जतायी कि मनीष सिसोदिया के इस बयान का दूसरा पहलू यह भी हो सकता है कि वह केजरीवाल के खिलाफ माहौल तैयार कर खुद को दिल्ली के मुख्यमंत्री की कुर्सी पर बैठाना चाहते हैं।