Prabhasakshi
रविवार, सितम्बर 24 2017 | समय 19:28 Hrs(IST)
ब्रेकिंग न्यूज़
Ticker Imageसाल की ये यात्रा देशवासियों की, भावनाओं की, अनुभूति की एक यात्रा है ‘मन की बात’Ticker Imageआठ शीर्ष कंपनियों का बाजार पूंजीकरण 54,539 करोड़ रुपये घटाTicker Imageहमने IIT, IIM, AIIMS बनाये और पाक ने आतंकी बनायेः सुषमाTicker Imageकांग्रेस ने दाऊद की पत्नी के मुंबई आने पर मोदी से मांगा स्पष्टीकरणTicker Imageप्रवर्तन निदेशालय ने शब्बीर शाह के खिलाफ आरोपपत्र दाखिल कियाTicker Imageमोहाली में वरिष्ठ पत्रकार और उनकी मां मृत मिलींTicker Imageमैटेरियल रिसर्च के लिये प्रोफेसर राव को मिलेगा अंतरराष्ट्रीय सम्मानTicker Imageमस्जिद के बाहर विस्फोट, म्यामां सेना ने रोहिंग्याओं को जिम्मेदार ठहराया

खेल

जुझारू आस्ट्रेलियाई टीम ने तीसरा टेस्ट ड्रा कराया

By admin@PrabhaSakshi.com | Publish Date: Mar 20 2017 5:28PM
जुझारू आस्ट्रेलियाई टीम ने तीसरा टेस्ट ड्रा कराया

रांची। आस्ट्रेलियाई बल्लेबाजों के जुझारूपन के आगे भारतीय गेंदबाज कोई कमाल नहीं कर सके और स्टीव स्मिथ की टीम ने यहां तीसरा क्रिकेट टेस्ट ड्रा कराके श्रृंखला में दिलचस्पी बरकरार रखी है। भारत के नौ विकेट पर 603 रन के जवाब में आस्ट्रेलिया ने दो विकेट पर 23 रन से आगे खेलना शुरू किया। दूसरी पारी में उसने छह विकेट पर 204 रन बना लिये थे जब दोनों कप्तान ड्रा पर राजी हो गए। आस्ट्रेलिया के लिये पीटर हैंडस्कांब और शॉन मार्श ने निर्णायक भूमिका निभाई। हैंडस्कांब 72 रन खेलकर नाबाद रहे जबकि मार्श ने 53 रन बनाये। दोनों ने पांचवें विकेट के लिये 124 रन जोड़कर आस्ट्रेलिया को हार के खतरे से बचाया। इससे पहले कप्तान स्टीव स्मिथ (21) और मैट रेनशॉ (15) सस्ते में आउट हो गए थे। भारत के लिये एक बार फिर रविंद्र जडेजा ने बेहतरीन गेंदबाजी करते हुए 54 रन देकर चार विकेट लिये। दूसरी ओर आस्ट्रेलिया के लिये मोर्चा संभालने वाले हैंडस्कांब ने 200 गेंद खेलकर अपना विकेट नहीं गंवाया। लंच से पहले भारतीय तेज गेंदबाज ईशांत शर्मा खतरनाक दिख रहे थे लेकिन आस्ट्रेलिया ने आखिरी दो सत्र में धैर्य के साथ खेलकर हालात संभाल लिये। अब श्रृंखला 1–1 से बराबरी पर है और चौथा टेस्ट 25 मार्च से धर्मशाला में खेला जायेगा जो पहली बार किसी टेस्ट की मेजबानी करेगा। 

 
दोनों टीमों के बीच मैदानी तनाव का नजारा यहां भी देखने को मिला। रेनशॉ और ईशांत के बीच तीखी बहस हो गई जिसके बाद ईशांत ने सलामी बल्लेबाज को पगबाधा आउट किया। चेतेश्वर पुजारा और रिधिमान साहा की मैराथन साझेदारी के दम पर भारत बढत लेता नजर आ रहा था लेकिन हैंडस्कांब और मार्श ने दबाव का बखूबी सामना करते हुए उम्दा पारियां खेली। अच्छी खासी तादाद में मैच देखने के लिये जमा दर्शकों में पूर्व कप्तान और रांची के लाड़ले महेंद्र सिंह धोनी भी शामिल थे। स्टार आफ स्पिनर आर अश्विन का खराब फार्म भारत के लिये चिंता का सबब है जिन्हें दोनों पारियों में एक एक विकेट ही मिला। जडेजा ने पहली पारी में पांच और दूसरी में चार विकेट चटकाये। इससे पहले भारत ने सुबह रेनशॉ और पहली पारी के शतकवीर स्मिथ के विकेट चार गेंद के भीतर ले लिये। पहले सत्र में आस्ट्रेलिया का स्कोर चार विकेट पर 63 रन था। इसके बाद आस्ट्रेलियाई बल्लेबाजों ने विकेट पर अंगद की तरह पैर जमा लिये और शतकीय साझेदारी की। इस बीच दूसरे सत्र के दौरान धोनी मैदान पर पहुंचे जो दिल्ली में विजय हजारे ट्राफी सेमीफाइनल खेलने के बाद यहां आये थे। उन्होंने दर्शकों का अभिवादन स्वीकार किया ।स्मिथ ने अपने शीर्ष चार गेंदबाजों से अधिकतम ओवर कराये ताकि भारतीय ज्यादा तेजी से रन ना बना सके। भारतीयों ने 200 से अधिक ओवर खेलकर सिर्फ 150 रन की बढत हासिल की। 
 
आस्ट्रेलिया ने दूसरे सत्र में एक भी विकेट नहीं गंवाया जबकि सुबह के सत्र में दो विकेट गिरे। मार्श और हैंडस्कांब ने संभलकर खेलते हुए भारत की जीत की उम्मीदों पर लगभग पानी फेर दिया। लंच से पहले आस्ट्रेलिया ने दो विकेट जल्दी गंवा दिये जब वह भारत के पहली पारी के स्कोर से 69 रन पीछे था। रविंद्र जडेजा ने स्टीव स्मिथ का कीमती विकेट लिया। तेज गेंदबाजों को नाकाम होते देख विराट कोहली ने लंच के बाद 11वें ओवर में जडेजा को फिर गेंद सौंपी। भारत ने 50वें से 53वें ओवर के बीच लगातार मैडन डाले लेकिन आस्ट्रेलियाई बल्लेबाज इससे बेपरवाह दिखे चूंकि उनका लक्ष्य विकेट बचाना था। भारत ने 47वें ओवर में हैंडस्कांब के खिलाफ रिव्यू का इस्तेमाल किया जब ऐसा लगा कि करूण नायर ने शार्ट लेग पर उनका कैच लपक लिया है हालांकि अंपायर ने बल्लेबाज के पक्ष में फैसला दिया। सुबह डेढ घंटे तक स्मिथ और सलामी बल्लेबाज मेट रेनशॉ ने धीमा खेला। भारत ने इसके बाद दो लगातार झटके दिये। जडेजा ने स्मिथ (21) को पवेलियन भेजा और ईशांत शर्मा ने 29वें ओवर में सफलता दिलाई। पहली पारी में नाबाद 178 रन बनाने वाले स्मिथ ने आस्ट्रेलिया को 451 रन के स्कोर पर पहुंचाया था। वह जडेजा की गेंद को भांप नहीं सके और अपना विकेट गंवा बैठे। वहीं शर्मा ने रेनशॉ को पिछले ओवर में पवेलियन लौटाया। साइट स्क्रीन के इर्द गिर्द कुछ गतिविधियां देख रेनशॉ ने बल्लेबाजी क्रीज छोड़ दी जिससे खफा ईशांत ने फालो थ्रू में गेंद उनकी ओर फेंक दी। गेंद उनसे दूर गिरी लेकिन इसके बाद दोनों के बीच छींटाकशी देखी गई। स्टीव स्मिथ भी बीच में कूद पड़े जिसे देखकर अंपायर ने भारतीय कप्तान विराट कोहली से हालात को काबू करने की जिम्मेदारी सौंपी। शर्मा ने इसके बाद रेनशॉ को बाउंसर डाले जिससे वह दबाव में दिखे। उन्होंने फुल लैंग्थ गेंद पर बल्लेबाज को पगबाधा आउट किया।