1. परिवार को जोड़ती है डाइनिंग टेबल, साथ बैठ कर तो देखें

    परिवार को जोड़ती है डाइनिंग टेबल, साथ बैठ कर तो देखें

    डाइनिंग टेबल आज पारिवारिक जीवन में आवश्यक व उपयोगी वस्तु बन गई है। आज के भागदौड़ भरे जीवन में सुख−दुख, प्यार−मुहब्बत या फिर शिकवे−शिकायत करने का स्थल डाइनिंग टेबल ही रह गई है।

  2. लड़कियों के लिए पाक कला में दक्ष होना आज भी है जरूरी

    लड़कियों के लिए पाक कला में दक्ष होना आज भी है जरूरी

    हालांकि शिक्षा के प्रसार से स्थितियां बदली हैं। मगर लड़की कितनी पढ़ी लिखी हो, हर मां यह चाहती है कि बेटी को अच्छा खाना बनाना जरूर आ जाए।

  3. कैसे बताऊं माँ, कितना सुकून है तेरे आँचल में

    कैसे बताऊं माँ, कितना सुकून है तेरे आँचल में

    एक औरत अपनी पूरी ज़िन्दगी ना जाने कितने ही किरदारों को निभाती है, परन्तु माँ का किरदार ही एक ऐसा किरदार है जिसके अभाव में वह अपने में कुछ कमी सी पाती है।

  4. टमाटर इस तरह काटेंगी तो व्यंजनों का बढ़ जायेगा स्वाद

    टमाटर इस तरह काटेंगी तो व्यंजनों का बढ़ जायेगा स्वाद

    हर व्यंजन के लिए उसके अनुसार टमाटर काटें क्योंकि थोड़े से आराम के लिए व्यंजन का स्वाद व सुंदरता न बिगाड़ें और न ही खाना बनाने की अपनी कुशलता में कमी आने दें।

  5. गर्भवती महिलाओं के लिए जानने योग्य कुछ जरूरी बातें

    गर्भवती महिलाओं के लिए जानने योग्य कुछ जरूरी बातें

    गर्भवती महिला को शुरू के तीन माह में फोलिक एसिड (मल्टी विटामिन्स) शुरू किया जाता है, जिससे शिशु का जन्मजात पाई जाने वाली बीमारियों से बचाव होता है। ऐसी महिला को अधिक सफर करने से बचना चाहिए।

  6. नवजात शिशु की देखभाल में काम आयेगी यह जानकारी

    नवजात शिशु की देखभाल में काम आयेगी यह जानकारी

    आइए जानते हैं कि एक मां को अपने नवजात शिशु के स्वास्थ्य का ध्यान किस प्रकार रखना चाहिए और क्या−क्या एहतियात बरतने चाहिए। इन उपायों से आप निश्चित रूप से अपने बच्चे को सुरक्षित और स्वस्थ रख पाएंगी।

  7. अगले जनम मोहे बिटिया ही कीजो

    अगले जनम मोहे बिटिया ही कीजो

    इस कथन से मैं पूर्णतया सहमत हूँ कि अगले जनम मोहे बिटिया ही कीजो और मुझे यही मम्मी पापा हर जनम में दीजो। आज के दिन यही कहना चाहती हूँ कि अपने महिला होने पर गर्व कीजिये और हर दिन को महिला दिवस मानकर उस दिन को जीना चाहिये।

  8. अंधेरा होते ही महिला स्वतंत्रता की बातें हो जाती हैं छू−मंतर

    अंधेरा होते ही महिला स्वतंत्रता की बातें हो जाती हैं छू−मंतर

    महिला दिवस पर आधी आबादी की वास्तविकता और धरातलीय चुनौतियों को समझने की जरूरत है। मुट्ठी भर महिलाओं के आगे बढ़ने से सम्पूर्ण महिला समाज का उत्थान नहीं होगा।

  9. पुरुषों की तुलना में छह घण्टे अधिक कार्य करती हैं महिलाएँ

    पुरुषों की तुलना में छह घण्टे अधिक कार्य करती हैं महिलाएँ

    महिलाएँ एक दिन में पुरुषों की तुलना में छह घण्टे अधिक कार्य करती हैं। आज विश्व में काम के घण्टों में 60 प्रतिशत से भी अधिक का योगदान महिलाएं करती हैं जबकि वे केवल एक प्रतिशत सम्पत्ति की मालिक हैं।

  10. ''सेल'' देखकर खुश होना सही पर सावधानी भी बरतें

    ''सेल'' देखकर खुश होना सही पर सावधानी भी बरतें

    सेल से चीजें खरीदना बेहतर तो होता है पर थोड़ी सावधानी की भी जरूरत होती है। कई दुकानदार सेल के बहाने अपना पुराना स्टॉक भी बेचने के चक्कर में रहते हैं। इसलिए हड़बड़ी में खरीदारी न करें।

  11. इस तरह पूरा कर सकती हैं माँ बनने का अपना सपना

    इस तरह पूरा कर सकती हैं माँ बनने का अपना सपना

    सबसे पहले तो आपको अपने खानपान पर ध्यान देना होगा। फल एवं सब्जियों युक्त पौष्टिक व संतुलित आहार लेना शुरू करें ताकि आपका शरीर गर्भधारण के लिए तैयार हो सके।

  12. यूँ करें बेक तो घर पर ही बनेगा स्वाद में बेमिसाल केक

    यूँ करें बेक तो घर पर ही बनेगा स्वाद में बेमिसाल केक

    अगर हम बात करें घर पर बने केक की तो ये खाने में तो बिल्कुल ताज़े होते ही हैं ही साथ में कुछ केक ऐसे भी हैं जिन्हें बनाने के लिए न तो ज्यादा चीज़ों की जरूरत पड़ती है और ना ज्यादा समय ही लगता है।

वीडियो