करूणानिधि ने वाइको को भेजा नोटिस: आरोप वापस लेने को कहा

द्रमुक प्रमुख करूणानिधि ने शुक्रवार को एमडीएमके प्रमुख वाइको को उनके आरोप पर दीवानी एवं फौजदारी मानहानि की कार्यवाही की चेतावनी दी और कानूनी नोटिस भेजा।

द्रमुक प्रमुख करूणानिधि ने शुक्रवार को एमडीएमके प्रमुख वाइको को उनके इस आरोप पर दीवानी एवं फौजदारी मानहानि की कार्यवाही की चेतावनी दी और कानूनी नोटिस भेजा जिसमें उन्होंने कहा था कि द्रमुक ने चुनावी गठबंधन के लिए डीएमडीके को धन की पेशकश की थी। वकील आर. धेवी ने वाइको को भेजे नोटिस में कहा है, ‘‘अपने मुवक्किल एम करूणानिधि की ओर से हम आपसे हमारे मुवक्किल के खिलाफ लगाए गए झूठे आरोप वापस लेने और खेद प्रकट करने की मांग करते हैं।’’

धेवी ने कहा कि मानहानि संबंधी बयान को लेकर वाइको सात दिनों के अंदर अपना आरोप वापस लें और माफी मांगें, ‘‘अन्यथा हमारे मुवक्किल मानहानि को लेकर आपके खिलाफ उपयुक्त दीवानी एवं फौजदारी कार्यवाही शुरू करने के लिए बाध्य होंगे।’’ नोटिस पर वाइको ने कहा, ‘‘मैं अदालत में इसका कानूनी रूप से सामना करूंगा।’’ उससे पहले वाइको ने दावा किया था कि द्रमुक ने विजयकांत को गठबंधन से जुड़ने के लिए 80 विधानसभा सीटें और 500 करोड़ रूपए की पेशकश की थी जबकि भाजपा ने उन्हें राज्यसभा सदस्य और केंद्रीय मंत्रिमंडल में एक मंत्री पद की पेशकश की।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़