फिल्म ‘ द एक्सीडेंटल प्राइममिनिस्टर’ पर बीजेपी का हाथ, अब घबराने की जरूरत नहीं

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Jan 14 2019 2:56PM
फिल्म ‘ द एक्सीडेंटल प्राइममिनिस्टर’ पर बीजेपी का हाथ, अब घबराने की जरूरत नहीं

दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक समिति ने सिंह के मजाकिया किरदार पर शनिवार को आपत्ति जताई थी। समिति के महासचिव मांजिंदर सिंह सिरसा ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री ने सिख समुदाय और भारत को अपने 10 साल के कार्यकाल के दौरान गौरवान्वित किया था

नयी दिल्ली। भाजपा के राष्ट्रीय सचिव आर पी सिंह ने ‘द ऐक्सीडेंटल प्राइममिनिस्टर’ का रविवार को बचाव करते हुए दावा किया कि पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने सिखों के लिए कभी आवाज नहीं उठाई और वह उस समय भी ‘चुप’ रहे जब कांग्रेस ने 1984 के सिख विरोधी दंगों के न्याय की आस खत्म कर दी। दरअसल एक सिख इकाई ने समुदाय से सिंह के ‘मजाकिया’ किरदार के लिए इस फिल्म का बहिष्कार करने को कहा है।
 
 
दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक समिति ने सिंह के मजाकिया किरदार पर शनिवार को आपत्ति जताई थी। समिति के महासचिव मांजिंदर सिंह सिरसा ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री ने सिख समुदाय और भारत को अपने 10 साल के कार्यकाल के दौरान गौरवान्वित किया था और यह फिल्म उनकी छवि को ‘बर्बाद’ कर रही है।


 


आर पी सिंह ने ट्विटर पर लिखा, ‘‘ वह सभी जो कहते हैं कि ऐक्सीडेंटल प्राइममिनिस्टर मनमोहन सिंह जी की एक सिख के तौर पर छवि खराब करती है तो उन्हें यह बताना चाहिए कि सिंह ने कब सिखों के लिए आवाज उठाई। एक प्रधानमंत्री के तौर पर वह तब भी चुप रहे जब कांग्रेस ने 1984 के दंगों की न्याय की आस खत्म कर दी। वह तब भी चुप रहे जब सज्जन और टाइटलर को लोकसभा का टिकट दिया गया।' ।

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप


Related Story

Related Video