किसी ने खाना खिलाया तो किसी ने घर पहुंचाया, बॉलीवुड ने की जरूरतमंदों की इस तरह मदद

किसी ने खाना खिलाया तो किसी ने घर पहुंचाया, बॉलीवुड ने की जरूरतमंदों की इस तरह मदद

लॉकडाउन से प्रवासी कामगारों, दिहाड़ी कामगारों और फिल्म उद्योग में छोटे-छोटे कामों से जुड़े लोगों की मुसीबतों से हर कोई वाकिफ है। ऐसे में शाहरुख खान,सलमान खान,चिरंजीवी और प्रभास जैसे दिग्गज कलाकार इन लोगों की मदद के लिए एक से बढ़ कर एक प्रयास कर रहे हैं और लोगों को राहत पहुंचाने की कोशिश कर रहे हैं।

लॉकडाउन से प्रवासी कामगारों, दिहाड़ी कामगारों और फिल्म उद्योग में छोटे-छोटे कामों से जुड़े लोगों की मुसीबतों से हर कोई वाकिफ है। ऐसे में शाहरुख खान,सलमान खान,चिरंजीवी और प्रभास जैसे दिग्गज कलाकार इन लोगों की मदद के लिए एक से बढ़ कर एक प्रयास कर रहे हैं और लोगों को राहत पहुंचाने की कोशिश कर रहे हैं। अभिनेता, फिल्मकार परेशान हाल लोगों को न सिर्फ पैसे, भोजन और चिकित्सा सहायता मुहैया करा रहे हैं बल्कि अपनी संपत्तियों को पृथक-केन्द्रों के तौर पर इस्तेमाल करने की पेशकश भी कर रहे हैं।

अमिताभ बच्चन ने की मदद 

सुपरस्टार अमिताभ बच्चन ने ऑल इंडिया फिल्म इम्प्लॉयज कन्फेडरेशन (एआईएफईसी) से जुडे स्पॉट ब्वॉय,मेकअप कलाकारों सहित 1,00,000 दैनिक कामगारों के परिवारों को एक महीने का राशन देने का प्रण किया है। उनके इस अभियान में सोनी पिक्चर्स नेटवर्क इंडिया और कल्याण ज्वैलर्स उनका साथ दे रहे हैं।

सलमान खान ने दिखाई दरियादिली 

सलमान खान का नाम उन कुछ चंद लोगों में शामिल है जो फिल्म उद्योग से जुड़े लोगों की दिक्कतों को समझते हुए उनकी मदद के लिए शुरुआत में ही सामने आए थे। उन्होंने अपने ‘बीइंग ह्यूमन फाउंडेशन’के जरिए एफडब्ल्यूआईसीई के 25 हजार कर्मचारियों की सीधी मदद का इरादा किया था। एफडब्ल्यूआईसीई के अध्यक्ष बी एन तिवारी ने एक साक्षात्कार में कहा था ,‘‘हमारी संस्था में पांच लाख सदस्य हैं जिनमें से 25 हजार लोगों को तत्काल मदद की आवश्यकता है। बीइंग ह्यूमन ने कहा है कि वे इन कर्मचारियों की मदद का जिम्मा खुद उठाएंगे....वे सुनिश्चित कर रहे हैं कि उन तक रुपए सीधे पहुंचे।’’

शाहरुख -गौरी  बिजनेस पार्टनर के साथ मिल कर जरूरतमंदों  की मदद की

शाहरुख खान ने अपनी पत्नी गौरी खान तथा बिजनेस पार्टनर के साथ मिल कर जरूरतमंदों की मदद के लिए अनेक उपायों की घोषणा की। उनके राहत ‘पैकेज’ में अग्रिम मोर्चे के स्वास्थ्यकर्मियों के लिए ‘व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरण’ (पीपीई) , मुंबई में 5,500 परिवारों के लिए रोजाना भोजन, प्रतिदिन 10,000 लोगों के लिए भोजन किट और 2,500 दैनिक कामगारों को जरूरत का सामान मुहैया करना शामिल है। इसके अलावा राष्ट्रीय राजधानी में 2,500 श्रमिकों को किराने का सामान भी दिया जा रहा है।

शाहरुख और गौरी ने उपनगरीय मुंबई में अपने चार मंजिल के कार्यालय को शहर में पृथक केन्द्र के रूप में इस्तेमाल करने की पेशकश स्थानीय नगर निकाय से की है। इनके अलावा चिरंजीवी, प्रभास, रितिक रोशन, विद्या बालन, फरहान अख्तर, सोनू सूद,सोनाक्षी, अक्षय कुमार आदि नामों की लंबी फहरिस्त है जिन्होंने आगे बढ़ कर जरूरतमंदों की मदद की है अथवा उनकी मदद के लिए आगे आ रहे हैं।

प्रवासी मजदूरों के लिए सोनू सूद बनें भगवान 

अभिनेता सोनू सूद ने लॉकडाउन के कारण मुंबई में फंसे प्रवासी मजदूरों के परिवहन के लिए बसों की व्यवस्था की। अभिनेता ने प्रवासी मजदूरों की यात्रा और भोजन का पूरा खर्चा उठाया। कर्नाटक और महाराष्ट्र सरकार से अनुमति मिलने के बाद सोमवार को कुल 10 बसें कर्नाटक के गुलबर्ग के लिए रवाना हुई। सोनू सूद ने कहा कि उनका मानना है कि इस वैश्विक संकट के समय में हर भारतीय को उसके परिवार के साथ रहने का अधिकार है और इसलिए उन्होंने राज्य सरकार से अनुमति लेकरप्रवासियों को उनके घर जाने में मदद की। उन्होंने कहा, “दस्तावेजीकरण से लेकर पूरी प्रक्रिया में महाराष्ट्र सरकार के अधिकारी काफी मददगार साबित हुए और कर्नाटक सरकार ने भी तहेदिल से प्रवासियों का उनके गृहराज्य में स्वागत किया।” अभिनेता ने पंजाब और मुंबई के डॉक्टरों को 1,500 पीपीई किट भी दान किए हैं साथ ही वे रमजान के पाक महीने में भिवंडी इलाके केजरुरतमंद लोगों को भोजन भी करा रहे हैं।