महिला केंद्रित फिल्मों में बड़े अभिनेताओं को लाना मुश्किल होता है : अनिल कपूर

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: May 22 2019 5:57PM
महिला केंद्रित फिल्मों में बड़े अभिनेताओं को लाना मुश्किल होता है : अनिल कपूर
Image Source: Google

अभिनेता ने अपने प्रोडक्शन वाली फिल्म ‘खूबसूरत’ का जिक्र करते हुए कहा कि इस फिल्म में पुरुष किरदार के लिए अभिनेता तलाशने में उन्हें काफी मुश्किलें आई। कई बड़े अभिनेताओं ने इस फिल्म को करने से इंकार कर दिया था।

मुंबई। अभिनेता अनिल कपूर का कहना है कि महिलाओं पर केंद्रित फिल्म में किसी भी बड़े अभिनेता को लाना हमेशा मुश्किल होता है। ‘बेटा’, ‘जुदाई’, ‘लाडला’ जैसी मजबूत महिला किरदारों वाली फिल्मों में काम कर चुके 62 वर्षीय अभिनेता ने कहा कि उनके करियर के शुरुआती दौर में फिल्म उद्योग के लोगों ने उन्हें ऐसी फिल्म नहीं करने की सलाह दी थी जिसमें महिलाओं का किरदार पुरुष किरदार से ज्यादा बेहतर या उनके बराबर हो। कपूर ने पीटीआई-भाषा को एक साक्षात्कार में बताया, ‘‘जब मैंने ‘जुदाई’ जैसी फिल्म की तो फिल्म उद्योग के कई लोगों को आश्चर्य हुआ कि मैं ऐसी फिल्में क्यों कर रहा हूं?’’ 

इसे भी पढ़ें: विक्रम गोखले की मराठी फिल्म में अतिथि भूमिका में नजर आएंगे अमिताभ बच्चन

अनिल कपूर ने कहा, ‘‘ लेकिन मैं हमेशा वैसी फिल्में करता रहूंगा जिसमें या तो मेरे लिए अच्छा किरदार होगा या फिर कहानी अच्छी होगी।’’ अभिनेता ने अपने प्रोडक्शन वाली फिल्म ‘खूबसूरत’ का जिक्र करते हुए कहा कि इस फिल्म में पुरुष किरदार के लिए अभिनेता तलाशने में उन्हें काफी मुश्किलें आई। कई बड़े अभिनेताओं ने इस फिल्म को करने से इंकार कर दिया था। उन्होंने बताया कि ‘खूबसूरत’ की प्रोड्यूसर रिया कपूर (अनिल कपूर की छोटी बेटी) ने इस दौरान फवाद खान के बारे में उन्हें बताया था। 

इसे भी पढ़ें: जासूसी पर अलग तरह की फिल्म होगी ‘ब्लैक टाइगर’: राजकुमार गुप्ता



अभिनेता का कहना है कि एक प्रोड्यूसर के रूप में वह और उनकी बेटी रिया महिलाओं को केंद्र में रखकर फिल्म बनाना चाहते हैं। कपूर अभी ‘पागलपंती’, करण जौहर की फिल्म ‘तख्त’ ,‘मलंग’ और ओलंपिक में स्वर्ण पदक जीतने वाले शूटर अभिनव बिंद्रा पर बन रही बायोपिक में काम कर रहे हैँ। 

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story

Related Video