लोकप्रिय कन्नड़ अभिनेता रॉकलाइन सुधाकर का निधन, शूटिंग करते वक्त पड़ा दिल का दौरा

  •  रेनू तिवारी
  •  सितंबर 24, 2020   16:46
  • Like
लोकप्रिय कन्नड़ अभिनेता रॉकलाइन सुधाकर का निधन, शूटिंग करते वक्त पड़ा दिल का दौरा

लोकप्रिय कन्नड़ अभिनेता रॉकलाइन सुधाकर, जो हाल ही में कोविद -19 के संक्रमण से ग्रसत हो गये थे, का गुरुवार (24 सितंबर) को हृदय गति रुकने के बाद निधन हो गया। खबरों के मुताबिक, सुधाकर ने अपनी आने वाली कन्नड़ फिल्म शुगरलेस के सेट पर अचानक ही दम तोड़ दिया।

लोकप्रिय कन्नड़ अभिनेता रॉकलाइन सुधाकर, जो हाल ही में कोविद -19 के संक्रमण से ग्रसत हो गये थे, का गुरुवार (24 सितंबर) को हृदय गति रुकने के बाद निधन हो गया। खबरों के मुताबिक, सुधाकर ने अपनी आने वाली कन्नड़ फिल्म शुगरलेस के सेट पर अचानक ही दम तोड़ दिया। जब उन्हें कार्डिएक अरेस्ट हुआ तो वह फिल्म के एक सीन के लिए तैयार हो रहे थे। उन्हें फोर्टिस अस्पताल ले जाया गया जहां उन्हें मृत घोषित कर दिया गया।

इसे भी पढ़ें: कॉमेडियन वेणुगोपाल कोसुरी का कोरोना वायरस से 60 साल की उम्र में निधन

उनके निधन की खबर ने कन्नड़ फिल्म उद्योग को स्तब्ध कर दिया था।  65 के मशहूर कलाकार सुधाकर ने आज सुबह 10 बजे अंतिम सांस ली। तीन महीने पहले, सुधाकर ने कोरोनावायरस के लिए सकारात्मक परीक्षण किया था। उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था और वह धीरे-धीरे संक्रमण से उबर गये थे। उद्योग में कई लोकप्रिय अभिनेताओं ने इस घटना पर दुख व्यक्त किया है।

अभिनेता धनंजय ने एक फिल्म के सेट से सुधाकर के साथ अपनी एक तस्वीर साझा की और अपनी संवेदना को प्रकट किया।

दर्शन थोगुदीपा ने लिखा, "अफसोस की बात यह है कि कन्नड़ सिनेमा के सबसे प्रतिभाशाली कॉमेडियन में से एक, रॉक लाइन सुधाकर ने हमें छोड़ दिया है। उनकी आत्मा को शांति मिले। ईश्वर उनके परिवार को यह नुकसान सहने की शक्ति दे।"

रॉकलाइन प्रोडक्शन में रॉकलाइन सुधाकर प्रोडक्शन मैनेजर थे। वह कन्नड़ फिल्म उद्योग में एक जानी-मानी हस्ती हैं और उपेंद्र की टोपीवाला, यश की मिस्टर एंड मिसेज रामचारी, भूतनाय मम्मागे अय्यु, अय्यो राम और भी कई फिल्मों का हिस्सा रहे हैं। उन्होंने 1992 में बेल्ली मोदागालु नामक फिल्म से अपनी शुरुआत की।







मृणाल ठाकुर और गुरु रंधावा की आगामी म्यूजिक वीडियो से पहली कई तस्वीरें आयी सामने

  •  रेनू तिवारी
  •  जनवरी 27, 2021   13:48
  • Like
मृणाल ठाकुर और गुरु रंधावा की आगामी म्यूजिक वीडियो से पहली कई तस्वीरें आयी सामने

अभिनेत्री मृणाल ठाकुर ने हाल ही में गुरु रंधावा के साथ 'अभी ना छोड़ो मुझे' शीर्षक से एक म्यूजिक वीडियो के लिए शूटिंग की। कश्मीर के गुलमर्ग क्षेत्र में फिल्माया गया, यह वीडियो घाटी में सुन्दर स्थानों की बैकड्रॉप में एक दिल छू जाने वाली प्रेम कहानी है।

प्रेस विज्ञप्ति। अभिनेत्री मृणाल ठाकुर ने हाल ही में गुरु रंधावा के साथ 'अभी ना छोड़ो मुझे' शीर्षक से एक म्यूजिक वीडियो के लिए शूटिंग की। कश्मीर के गुलमर्ग क्षेत्र में फिल्माया गया, यह वीडियो घाटी में सुन्दर स्थानों की  बैकड्रॉप में एक दिल छू जाने वाली प्रेम कहानी है। मृणाल ने कई कमिटमेंट्स के बीच, इस वीडियो को शूट करने के लिए एक सप्ताह की छुट्टी ले ली थी। मृणाल इस वीडियो में एक क्यूट और अनोखे लुक में नज़र आ रही है।

इसे भी पढ़ें: मधुर भंडारकर ने ‘इंडिया लॉकडाउन’ की शूटिंग शुरू की, कोरोना के जख्मों पर आधारित है फिल्म

हालांकि, उनके लिए सबसे अच्छी बात शूटिंग प्रक्रिया थी। दर्शकों का कहना है कि वीडियो के लिए एक रोमांटिक जोड़ी की भूमिका निभाते हुए ऑफस्क्रीन मृणाल और गुरू के बीच एक गहरी मित्रता नज़र आयी। एक स्रोत के अनुसार, “उनकी दोस्ती परदे पर एक सुंदर केमिस्ट्री के रूप में खिलती हुई नज़र आई। गाने बेहद ऊर्जावान है और बहुत खूबसूरती शूट हुआ है।“

इसे भी पढ़ें: शादी की रस्में पूरी करने अलीबाग पहुंचे वरुण धवन, सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल

कश्मीर में कुछ दिनों में ही इस गाने को एक छोटे से टीम के साथ शूट किया गया है। कश्मीर के बर्फीले स्थानों में शूट करना मृणाल के लिए एक अच्छा ब्रेक था।







अब हिंदी में देखे ‘मास्टर’ फिल्म, अमेजन प्राइम वीडियो पर इस दिन हो रही है रिलीज

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 27, 2021   10:34
  • Like
अब हिंदी में देखे ‘मास्टर’ फिल्म, अमेजन प्राइम वीडियो पर इस दिन हो रही है रिलीज

तमिल एक्शन थ्रिलर फिल्म ‘मास्टर’ अमेजन प्राइम वीडियो पर 29 जनवरी को रिलीज होगी। सिनेमाघरों में यह फिल्म पोंगल के मौके पर 13 जनवरी को रिलीज हुई थी। ‘मास्टर’ फिल्म की कहानी जॉन दुराईराज नाम के एक शराबी प्रोफेसर (विजय) के आसपास घूमती है, जिसे एक नाबालिग स्कूल में भेजा जाता है।

मुंबई। तमिल एक्शन थ्रिलर फिल्म ‘मास्टर’ 29 जनवरी को अमेजन प्राइम वीडियो पर रिलीज होगी। इस फिल्म में थलपति विजय और विजय सेतुपति मुख्य भूमिका में हैं। ऑनलाइन प्रसारक अमेजन प्राइम वीडियो ने बुधवार को यह जानकारी दी। इस फिल्म की पटकथा लोकेश कंगराज ने लिखी है और उन्होंने ही निर्देशन भी किया है। सिनेमाघरों में यह फिल्म पोंगल के मौके पर 13 जनवरी को रिलीज हुई थी। ‘मास्टर’ फिल्म की कहानी जॉन दुराईराज नाम के एक शराबी प्रोफेसर (विजय) के आसपास घूमती है, जिसे एक नाबालिग स्कूल में भेजा जाता है।

इसे भी पढ़ें: मधुर भंडारकर ने ‘इंडिया लॉकडाउन’ की शूटिंग शुरू की, कोरोना के जख्मों पर आधारित है फिल्म

यहां उसका सामना भवानी (सेतुपति) जैसे गैंगेस्टर से होता है, जो बच्चों का इस्तेमाल आपराधिक गतिविधियों के लिए कर रहा होता है। . विजय ने कहा कि वह ‘खुश’ हैं कि इस फिल्म का आनंद अमेजन पर भारत समेत अन्य देशों के दर्शक भी उठा सकते हैं। कंगराज ने कहा कि यह बेहद सुखद अनुभव है कि यह फिल्म वैश्विक स्तर पर अमेजन पर रिलीज हो रही है। इस फिल्म में मालविका मोहनन, अंद्रेया जरमेह समेत अन्य कलाकार हैं।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।




अभिनेता दीप सिद्धू ने कहा- तिरंगे को नहीं हटाया, वह एक प्रतीकात्मक प्रदर्शन’ था

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 27, 2021   08:40
  • Like
अभिनेता दीप सिद्धू ने कहा- तिरंगे को नहीं हटाया, वह एक प्रतीकात्मक प्रदर्शन’ था

णतंत्र दिवस के मौके पर ट्रैक्टर परेड के दौरान लालकिले पर प्रदर्शनकारियों द्वारा धार्मिक झंडा फहराये जाने की घटना के दौरान मौजूद रहे अभिनेता दीप सिद्धू ने मंगलवार को प्रदर्शनकारियों के कृत्य का यह कह कर बचाव किया कि उन लोगों ने राष्ट्रीय ध्वज नहीं हटाया और केवल एक प्रतीकात्मक विरोध के तौर पर ‘निशान साहिब’ को लगाया था।

चंडीगढ़। गणतंत्र दिवस के मौके पर ट्रैक्टर परेड के दौरान लालकिले पर प्रदर्शनकारियों द्वारा धार्मिक झंडा फहराये जाने की घटना के दौरान मौजूद रहे अभिनेता दीप सिद्धू ने मंगलवार को प्रदर्शनकारियों के कृत्य का यह कह कर बचाव किया कि उन लोगों ने राष्ट्रीय ध्वज नहीं हटाया और केवल एक प्रतीकात्मक विरोध के तौर पर ‘निशान साहिब’ को लगाया था। ‘निशान साहिब’ सिख धर्म का प्रतीक है और इस झंडे को सभी गुरुद्वारा परिसरों में लगाया जाता है।

इसे भी पढ़ें: किसानों के लिए खुशखबरी! झारखंड में नौ लाख किसानों का 50 हजार तक का कर्जा माफ होगा

सिद्धू ने फेसबुक पर पोस्ट किये गए एक वीडियो में दावा किया कि वह कोई योजनाबद्ध कदम नहीं था और उन्हें कोई साम्प्रदायिक रंग नहीं दिया जाना चाहिए जैसा कट्टरपंथियों द्वारा किया जा रहा है। सिद्धू ने कहा, ‘‘नये कृषि कानूनों के खिलाफ प्रतीकात्मक विरोध दर्ज कराने के लिए, हमने ‘निशान साहिब’ और किसान झंडा लगाया और साथ ही किसान मजदूर एकता का नारा भी लगाया।’’ उन्होंने निशान साहिब की ओर इशारा करते हुए कहा कि झंडा देश की ‘‘विविधता में एकता’’ का प्रतिनिधित्व करता है। निशान साहिब सिख धर्म का एक प्रतीक है जो सभी गुरुद्वारा परिसरों में लगा देखा जाता है।

इसे भी पढ़ें: किसानों की ट्रैक्टर रैली में की गयी हिंसा मामले में दिल्ली पुलिस ने सात प्राथमिकी दर्ज की

उन्होंने कहा कि लालकिले पर ध्वज-स्तंभ से राष्ट्रीय ध्वज नहीं हटाया गया और किसी ने भी देश की एकता और अखंडता पर सवाल नहीं उठाया। विभिन्न दलों के नेताओं ने लाल किले पर हिंसा की घटना की निंदा की है। कांग्रेस नेता शशि थरूर ने घटना का एक वीडियो साझा करते हुए ट्वीट किया कि वह शुरुआत से ही किसान प्रदर्शन का समर्थन कर रहे हैं लेकिन अराजकता स्वीकार नहीं कर सकते। पिछले कई महीनों से किसान आंदोलन से जुड़े सिद्धू ने कहा कि जब लोगों के वास्तविक अधिकारों को नजरअंदाज किया जाता है तो इस तरह के एक जन आंदोलन में ‘‘गुस्सा भड़क उठता है।’’उन्होंने कहा, ‘‘आज की स्थिति में, वह गुस्सा भड़क गया।’’

सिद्धू अभिनेता सनी देओल के सहयोगी थे जब अभिनेता ने 2019 के लोकसभा चुनावों के दौरान गुरदासपुर सीट से चुनाव लड़ा था। भाजपा सांसद ने पिछले साल दिसंबर में किसानों के आंदोलन में शामिल होने के बाद सिद्धू से दूरी बना ली थी। कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन की अगुवाई कर रहे नेताओं में से एक एवं स्वराज अभियान के नेता योगेंद्र यादव ने कहा कि ‘‘हमने सिद्धू को शुरू से ही अपने प्रदर्शन से दूर कर दिया था।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।




This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept