बढ़ सकती है वेब सीरीज 'मिर्जापुर' की मुश्किलें! लेखक ने दी कानूनी कार्रवाई की चेतावनी

Mirzapur
रेनू तिवारी । Oct 29, 2020 5:33PM
पिछले दो सालों से मिर्जापुर का सोशल मीडिया पर भौकाल मचा हुआ है। मिर्जापुर के फैंस सीरीज के दूसरे सीजन का बेसब्री से इंतजार कर रहे थे। ये इंतजार 23 अक्टूबर 2020 को जाकर खत्म हुआ।

नयी दिल्ली। पिछले दो सालों से मिर्जापुर का सोशल मीडिया पर भौकाल मचा हुआ है। मिर्जापुर के फैंस सीरीज के दूसरे सीजन का बेसब्री से इंतजार कर रहे थे। ये इंतजार 23 अक्टूबर 2020 को जाकर खत्म हुआ। अमेजन प्राइम पर मिर्जापुर 2 को रिलीज किया गया। जैसा की उम्मीद थी पहले ही दिन लोगों ने रातों को जागकर 10 एपिसोड वाली इस सीरीज को पूरा किया क्योंकि मिर्जापुर का लोगों में एक अलग लेवल का क्रेज था। मिर्जापुर के दूसरे सीजन की बात करें तो वह पहले सीजन की तरह भौकाल नहीं मचा पाया। मिर्जापुर 2 की कहानी को भी अधूरा रखा गया तीसरे सीजन के लिए। सीरीज के कंटेंट को लेकर सोशल मीडिया पर काफी मीम बन रहे है। लोगों ने इसे काफी पसंद भी किया है खास तौर पर सीरीज में बोले गये डायलॉक को युवा पीढ़ी काफी पसंद कर रही।

इसे भी पढ़ें: कांटा लगा गर्ल शेफाली जरीवाला की वापसी! अपने हुस्न से करेंगी मीका सिंह का कत्ल 

मिर्जापुर की सुपरहिट सीरीज की काहानी आखिरी किस चीज पर आधारित है? 

कहानी के कुछ अंक को एक नोवल से उठाया गया है। वाली लेखकों की अपनी रिसर्च हैं। इस कहानी के डिस्क्रिप्शन में इसे काल्पनिक कहानी कहा गया है।

बढ़ सकती है मिर्जापुर सीरीज की मुश्किल 

हिंदी क्राइम नोवल लेखक सुरेंद्र मोहन पाठक ने अमेजन प्राइम वीडियो सीरीज ‘‘मिर्जापुर 2’’ के निर्माताओं के खिलाफ कानूनीकार्रवाई करने की चेतावनी दी है। उन्होंने अपने उपन्यास ‘‘धब्बा’’ को ‘‘बिल्कुल अश्लील’’ तरीके से दिखाने के लिए यह चेतावनी दी है। लेखक ने 27 अक्टूबर को जारी पत्र में आरोप लगाया कि सीजन टू के तीसरे एपिसोड में अभिनेता कुलभूषण खरबंदा (श्रृंखला में सत्यानंद त्रिपाठी की भूमिका करने वाले) पाठक का उपन्यास ‘‘धब्बा’’ पढ़ रहे हैं, लेकिन वॉयस ओवर का उपन्यास में लिखी बातों से कोई लेना -देना नहीं है।

इसे भी पढ़ें: शाहरुख खान का कमबैक! क्राइम-थ्रिलर फिल्म 'लव हॉस्टल' का किया ऐलान  

बिल्कुल अश्लील बनाया है सीरीज को

पाठक (81) ने ट्विटर पर साझा किए गए पत्र में दावा किया, ‘‘श्रृंखला में चरित्र को ‘धब्बा’ पढ़ते हुए जो दिखाया गया उसका मूल टेक्सट से कोई लेना-देना नहीं है।’’ उन्होंने लिखा, ‘‘इसके विपरीत जो पढ़ा जा रहा है वह काफी अश्लील है, जबकि लेखक ऐसा लिखने के बारे में सोच भी नहीं सकता। लेकिन इस प्रक्रिया में दिखाया गया है कि इसे मेरे उपन्यास ‘धब्बा’ से पढ़ा जा रहा है जो गलत चित्रण है।’’

पाठक ने आरोप लगाए कि ऐसा गलत चित्रण मेरे पांच दशक से अधिक की छवि को ‘‘खराब करने का प्रयास’’ है। उन्होंने कहा कि लेखकों ने उन्हें फोन कर वादा किया है कि शो से वॉयस ओवर को हटा दिया जाएगा। इस बारे में टिप्पणी के लिए एक्सेल इंटरटेनमेंट के निर्माताओं से संपर्क नहीं हो सका।

अन्य न्यूज़