• सलमान खान की फिल्म कभी ईद कभी दिवाली बनाने के पीछे आखिर क्या हैं मंशा?

रेनू तिवारी Jan 14, 2020 14:23

सलमान ने अपनी नई फिल्म की घोषणा की है जो 2021की ईद पर रिलीज होगी। फिल्म का नाम कभी ईद कभी दिवाली रखा गया हैं। सलमान खान अभी फिल्म राधे की शूटिंग और बिग बॉस 13 के शूट में वयस्त हैं, 2021 में अभी काफी वक्त हैं ऐसे में सलमान ने अभी इस फिल्म की घोषणा क्यों की हैं।

सलमान खान बॉलीवुड के वो एक्टर हैं जो अपने फैंस को कभी दिवाली तो कभी ईज पर अपनी फिल्मों के जरिए तोहफा देते रहते हैं। आने वाला 2 साल में सलमान खान तीन से चार फिल्में लेकर आने वाले हैं। जिनमें से कोई ईद पर रिलीज होती तो कोई दिवाली पर। सलमान खान ने अपनी नई फिल्म की घोषणा की है जो 2021 की ईद पर रिलीज होगी। फिल्म का नाम कभी ईद कभी दिवाली रखा गया हैं। सलमान खान अभी फिल्म राधे की शूटिंग और बिग बॉस 13 के शूट में वयस्त हैं, 2021 में अभी काफी वक्त हैं ऐसे में सलमान खान ने अभी इस फिल्म की घोषणा क्यों की हैं। आखिर फिल्म कभी ईद कभी दिवाली की घोषणा के पीछे उनकी क्या मंशा हैं। माना जा रहा है जिस तरह देश में हालात है उसे ध्यान में रखकर फिल्म की घोषणा की गई हैं फिल्म का यह नाम सोची समझी रणनीति  के तहत रखा गया है।

इसे भी पढ़ें: JNU जाना दीपिका पादुकोण को पड़ा भारी, LUX ब्यूटी सोप बदल सकता है ब्रांड एम्बेसडर

देश में माहौल है खराब

देश में कुछ लोगों ने मोदी सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल रखा है उनका मानना है कि मोदी सरकार देश के मुस्लिमों का अहित चाहती है इसी लिए एनआरसी और सीएए जैसे बिल लेकर आयी है। जबकि सरकार ने यह साफ कर दिया है कि इस बिल से किसी कोई नुसकान नहीं होगा, न ही किसी की नागरिकता जएगी। 


सलमान की फिल्म कभी ईद कभी दिवाली के पीछे की क्या हैं मंशा

सूत्रों बताया कि है कि फिल्म को बनाने के पीछे मंशा साफ है कि जिस तरह देश को बांटने की राजनीति चल रही है उसे फिल्म के संदेश से खत्म करने की प्रयास होगा। सिनेमा से मिलने वाले संदेश लोगों को कई मायने में इफेक्ट करता है इस लिए सलमान भारत की एकता पर फिल्म बनाना चाहते हैं। फिल्म का संदेश 'द्वेष, आपसी मतभेद और नफ़रत के इस माहौल में, सद्भाव और शांति का संदेश देना होगा।

जाहिर है कि प्लॉट का स्रोत सलमान खान का अपना परिवार है। “उनके पिता मुस्लिम हैं। उनकी मां हिंदू हैं। हेलेन चाची एक कैथोलिक हैं। सलमान का परिवार सांप्रदायिक सौहार्द का जीता जागता उदाहरण है। फिल्म का प्लॉट समान होगा यह एक ऐसे परिवार में उतार-चढ़ाव को चित्रित करेगा जो ईद और दिवाली दोनों को समान उत्साह के साथ मनाता है। यह सलमान की एकता और भाईचारे की स्थायी भावना के प्रति श्रद्धांजलि होगी, जो देश में वर्तमान में फैले माहौल का एक प्रतिरूप है, ”स्रोत का कहना है।