क्या 'पठान' चमका पाएगी शाहरुख खान की किस्मत, दीपिका पादुकोण का लेडी लक आएगा काम? पढ़ें ताजा अपडेट

क्या 'पठान' चमका पाएगी शाहरुख खान  की किस्मत, दीपिका पादुकोण का लेडी लक आएगा काम? पढ़ें ताजा अपडेट

बॉलीवुड एक्ट्रेस दीपिका पादुकोण ने अपने करियर की शुरूआत शाहरुख खान के साथ फिल्म ओम शांति ओम से की थी। दीपिका आज बॉलीवुड की सुपरहिट एक्ट्रेस में से एक हैं। शाहरुख खान के साथ उन्होंने कई फिल्में की जो बॉक्स ऑफिस पर हिट रही है।

बॉलीवुड एक्ट्रेस दीपिका पादुकोण ने अपने करियर की शुरूआत शाहरुख खान के साथ फिल्म ओम शांति ओम से की थी। दीपिका आज बॉलीवुड की सुपरहिट एक्ट्रेस में से एक हैं। शाहरुख खान के साथ उन्होंने कई फिल्में की जो बॉक्स ऑफिस पर हिट रही है। पिछले कुछ सालों से शाहरुख खान की कोई फिल्म बॉक्स ऑफिस पर शानदार प्रदर्शन नहीं कर पायी है जिसके कारण शाहरुख खान ने दो साल का बॉलीवुड से ब्रेक लिया। अब वह कमबैक के लिए तैयार है और उनकी आने वाली फिल्म पठान है जिसमें वह दीपिका पादुकोण के साथ दिखाई पड़ेंगे।

इसे भी पढ़ें: पंकज त्रिपाठी ने कहा- यकीन नहीं होता गांव का लड़का एक्टर बन गया 

शाहरुख खान और दीपिका पादुकोण अपनी आने वाली फिल्म पठान की शूटिंग स्पेन में करने के लिए पूरी तरह तैयार हैं। अभिनेता वहां एक भव्य गाने की शूटिंग भी करेंगे। यशराज फिल्म्स प्रोडक्शन पठान का निर्देशन सिद्धार्थ आनंद ने किया है। फिल्म में जॉन अब्राहम भी हैं।

इसे भी पढ़ें: सोनाक्षी को इंस्टाग्राम पर मिला शादी का प्रस्ताव, दबंग गर्ल ने दिया यह मजेदार जवाब 

जुलाई में शाहरुख खान के साथ पठान की शूटिंग शुरू करने वाली दीपिका पादुकोण फिल्म के आगे के दृश्यों की शूटिंग के लिए स्पेन जाएंगी। एक सूत्र ने हमें स्पेन के शेड्यूल के बारे में बताया और कहा, "किसी भी बॉलीवुड फिल्म ने कभी भी इन जगहों पर गाने के सीक्वेंस की शूटिंग नहीं की है। सिद्धार्थ आनंद स्पेन में एक गाने के तमाशे की शूटिंग करेंगे और सभी संभावित लीक को नियंत्रित करने के लिए चीजें पूरी तरह से गुप्त हैं। इरादा एक ऐसा गाना बनाने का है जो देखने में इतना भव्य हो कि यह तुरंत हिट हो जाए। स्पेन में शूटिंग के अच्छे अनुभव के लिए सभी आवश्यक अनुमतियों पर काम किया जा रहा है। 

सूत्र ने आगे कहा, “पठान एक बेहद प्रतीक्षित दृश्य के साथ नाटक बन रहा है जो स्क्रीन पर आग लगा देगा। सिद्धार्थ आनंद और आदित्य चोपड़ा भारतीय सिनेमा को दुनिया के नक्शे पर फिर से परिभाषित करना चाहते हैं और इस लक्ष्य को हासिल करने के लिए हर संभव कोशिश की जा रही है।