100 सीसी डिस्कवर की लालच कंपनी के लिए मीटू साबित हुई: राजीव बजाज

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 22, 2018   15:41
100 सीसी डिस्कवर की लालच कंपनी के लिए मीटू साबित हुई: राजीव बजाज

बजाज ऑटो के प्रबंध निदेशक राजीव बजाज ने 100 सीसी की डिस्कवर बाजार में उतारने को अपने करियर की ‘सबसे बड़ी चूक’ करार दिया। उन्होंने कहा कि इस मोटरसाइकिल की विफलता के कारण कंपनी देश में दूसरे स्थान पर लुढ़क गयी।

मुंबई। बजाज ऑटो के प्रबंध निदेशक राजीव बजाज ने 100 सीसी की डिस्कवर बाजार में उतारने को अपने करियर की ‘सबसे बड़ी चूक’ करार दिया। उन्होंने कहा कि इस मोटरसाइकिल की विफलता के कारण कंपनी देश में दूसरे स्थान पर लुढ़क गयी। बजाज ने कहा कि डिस्कवर जब 125 सीसी के संस्करण में पेश की थी तो यह एक अलग तरह की मोटरसाइकिल थी। तब डिस्कवर माइलेज और ताकत दोनों का मिश्रण थी और यही कारण है कि उसकी बिक्री जोरदार थी। उन्होंने एक कार्यक्रम के दौरान कहा, “एक तरह का लालच पैदा हो गया था। हमारे विपणन के लोगों ने कहा अगर 125 सीसी की डिस्कवर इतनी बिक रही है तो 100 सीसी की कितनी बिकेगी। हमने इस विचार पर काम किया और 100 सीसी की डिस्कवर लेकर आए। हमने अपना स्थान खो दिया और पांच साल बाद हमारा प्रदर्शन भी खराब हो गया...”।

बजाज ने कहा, “हमने अलग विचार एवं यूएसपी के साथ नये तरह के उत्पाद के साथ शुरूआत की थी लेकिन यह ‘मीटू’ उत्पाद में बदल गया। जीवन और विपणन दोनों के लिए ‘मीटू’ अच्छा नहीं होता।”हालांकि वह रेसिंग मोटरसाइकिल बनाने वाली ऑस्ट्रेलियाई कंपनी केटीएम की संभावनाओं के लेकर आशावान नजर आए। कंपनी ने 2007 में केटीएम में निवेश किया था। उन्होंने कहा कि बजाज ऑटो अगले साल ई-वाहन बाजार में उतरने की योजना बना रही है। हालांकि उन्होंने सस्ते ई-वाहन बाजार में उतारे जाने को लेकर उद्योग पर चुटकी लेते हुए कहा कि वे इस तरह के वाहनों के साथ सौतेला व्यवहार कर रहे हैं। बजाज ने कहा, “हम दोपहिया या तिपहिया टेस्ला लाकर सुर्खियों में आ सकते थे...हम प्रयास करेंगे एवं 2019 में ऐसा करेंगे।”





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।