पीएम मोदी बोले- देश में जल्द शुरू होंगी 5G सेवाएं, डिजिटल इंडिया के जरिए ला रहे क्रांति

pm modi
ANI
देश में जल्द शुरू होंगी 5जी सेवाएं।पीएम मोदी ने 76वें स्वतंत्रता दिवस पर लाल किले की प्राचीर से देशवासियों को संबोधित करते हुए देश में 5जी से लेकर इलेक्ट्रॉनिक चिप के विकास को बढ़ावा देने समेत गांवों में ऑप्टिकल फाइबर केबल (ओएफसी) के जाल को बिछाने और साझा सेवा केंद्रों के जरिये डिजिटल उद्यमिता बढ़ाने की बात कही।

नयी दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को कहा कि देश में नयी पीढ़ी की 5जी सेवाएं जल्द शुरू होंगी और डिजिटल भारत का सपना गांवों से गुजरेगा। मोदी ने 76वें स्वतंत्रता दिवस पर लाल किले की प्राचीर से देशवासियों को संबोधित करते हुए देश में 5जी से लेकर इलेक्ट्रॉनिक चिप के विकास को बढ़ावा देने समेत गांवों में ऑप्टिकल फाइबर केबल (ओएफसी) के जाल को बिछाने और साझा सेवा केंद्रों के जरिये डिजिटल उद्यमिता बढ़ाने की बात कही। उन्होंने कहा, अब हम 5जी के दौर में प्रवेश कर रहे हैं। इसका बहुत इंतजार नहीं करना पड़ेगा। हम ऑप्टिकल फाइबर को हर गांव में लेकर जा रहे हैं और मुझे पूरी भरोसा है कि डिजिटल भारत का सपना गांवों से गुजरेगा। प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘मुझे खुशी है कि भारत के चार लाख साझा सेवा केंद्र गांवों में विकसित हो रहे हैं।

इसे भी पढ़ें: गौतम अडाणी से लेकर मुकेश अंबानी तक, आजादी के जश्न में शामिल हुआ उद्योग जगत

देश इस बात पर गर्व कर सकता है कि गांवों में चार लाख डिजिटल उद्यमी तैयार हो रहे हैं और गांव के लोगें की उनसे सेवा लेने की आदत हो रही है।’’ गौरतलब है कि सरकार ने इस महीने की शुरुआत में उद्योगपति मुकेश अंबानी की दूरसंचार कंपनी जियो, सुनील मित्तल की अगुवाई वाली भारती एयरटेल,गौतम अडाणी के समूह और वोडाफोन आइडिया को 1.5 लाख करोड़ रुपये में 5जीस्पेक्ट्रम बेची है। मोदी ने कहा हम बार-बार पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री को याद करते है। जय जवान जय किसान का उनका मंत्र आज भी देश के लिए प्रेरणा है। मोदी ने कहा, बाद में अटल बिहारी वाजपेयी जी ने जय विज्ञान कह कर उस मंत्र में एक कड़ी जोड़ दी थी और देश ने उसको प्राथमिकता दी थी। लेकिन अब अमृतकाल के लिए एक और अनिवार्यता है और वो है जय अनुसंधान......यानी जय जवान, जय किसान, जय विज्ञान, जय अनुसंधान। उन्होंने कहा कि नवाचार की ताकत देखिये। आज डिजिटल भुगतान मंच यूपीआई भीम (यूनिफाइड पेमेंट इंटरफेस), सूचना प्रौद्योगिकी कंपनियों और डिजिटल वित्तीय लेनदेन में हमारी विश्व में 40 प्रतिशत हिस्सेदारी हैं।

इसे भी पढ़ें: एंटीलिया कांड के बाद दोबारा अंबानी परिवार को मिली धमकी, 3 घंटे में पूरे परिवार को खत्म कर देंगे

प्रधानमंत्री ने कहा कि डिजिटल भारत अभियान, सेमीकंडक्टर विनिर्माण और 5जी की तरफ जो हम कदम बढ़ा रहे हैं.....यह केवल आधुनिकता की पहचान नहीं है इसमें तीन बड़ी ताकतें समाई हुई है। उन्होंने कहा, शिक्षा में सम्पूर्ण क्रान्ति, स्वास्थ्य सेवाओं में क्रांति, डिजिटल माध्यम से आएगी और किसी जीवन में बहुत बड़ा बदलाव डिजिटल माध्यम से आने वाला है। एक नया विश्व तैयार हो रहा है। मानव जाति के लिए यह दशक प्रौद्योगिकी का समय है और भारत के लिए तो यह प्रौद्योगिकी-दशक (टेकड) हैं। मोदी ने कहा कि अटल नवाचार मिशन, ‘इन्क्यूबेशन’ केंद्र (पालना केंद्र) और स्टार्टअप नए क्षेत्रों का विकास कर रहे हैं, युवा पीढ़ी के लिए नए अवसर ला रहे हैं। उन्होंने कहा हमें सौर ऊर्जा से लेकर हाइड्रोजन मिशन तथा इलेक्ट्रिक वाहनों को अपनाकर ऊर्जा क्षेत्र में आत्मनिर्भर बनना है। ‘‘हमें ऊर्जा क्षेत्र में आतमनिर्भर बनने के लिये इन कार्यक्रमों को अगले चरण में ले जाना है।’’ मोदी ने कहा कि भारत का औद्योगिक विकास जमीनी स्तर से होगा और हमारे सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यमों, रेहड़ी-पटरी वालों और असंगठित क्षेत्रों में काम करने वालों को मजबूत करने की जरूरत है। प्रधानमंत्री मोदी ने भ्रष्टाचार के खिलाफ भी पूरे जोश के साथ लड़ने का संकल्प लिया। उन्होंने कहा, हमें पूरी ताकत से भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ना है। पिछले आठ साल में, आधार, प्रत्यक्ष लाभ हस्तांतरण (डीबीटी) और मोबाइल फोन के उपयोग से दो लाख करोड़ रुपये के काले धन का पता लगाया गया है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़