नोयडा क्षेत्र से जुड़े 8 लाख कर्मचारियों ने नहीं किया ईपीएफओ से जुड़ा यह काम, तो बढ़ सकती है उनकी मुश्किलें

EPFO
एक रिपोर्ट के मुताबिक, यह बात सामने आई है कि नोएडा क्षेत्र के अंदर आने वाले 800,000 कर्मचारियों ने अभी तक अपने कर्मचारी भविष्य निधि खाते में नॉमिनी यानी नामित व्यक्ति की घोषणा नहीं की है।

अगर आप भी नोयडा क्षेत्र में किसी निजी फैक्ट्री या कंपनी में काम करते हैं तो आपके लिए भी एक जरूरी खबर है। दरअसल खबर यह है कि, नोयडा क्षेत्र से जुड़े 800,000 से अधिक निजी कंपनी या फैक्ट्री में काम करने वाले कर्मचारियों को अपने ईपीएफओ अकाउंट में नॉमिनी का नाम अपडेट करना बेहद जरूरी है। इसको लेकर कर्मचारियों को लगातार आगाह किया जा रहा है कर्मचारी आने वाले 31 दिसंबर तक नॉमिनी का नाम जरूर अपडेट कर लें। ईपीएफओ की तरफ से निजी कंपनी और फैक्ट्रियों में काम करने वाले कर्मचारियों को लगातार आगाह किया जा रहा है।

 मिली जानकारी के अनुसार, अभी तक केवल सवा लाख कर्मचारियों ने ही अपने कर्मचारी भविष्य निधि खाते के साथ नॉमिनी की घोषणा की है। कर्मचारी भविष्य निधि संगठन के अधिकारियों के मुताबिक, गौतमबुद्ध नगर जिले में भविष्य निधि अधिनियम के तहत आने वाले सभी प्रतिष्ठानों को ईमेल, पत्र फोन कॉल, और बैठक के जरिये ईपीएफ खाता धारकों को ई- नॉमिनेशन की प्रक्रिया को पूरा करने की अपील की गई है।

 एक रिपोर्ट के मुताबिक, यह बात सामने आई है कि नोयडा क्षेत्र के अंदर आने वाले 800,000 कर्मचारियों ने अभी तक अपने कर्मचारी भविष्य निधि खाते में नॉमिनी यानी नामित व्यक्ति की घोषणा नहीं की है। जिसकी वजह से उन्हें भविष्य में परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। ईपीएफओ ने भी जल्दी से जल्दी ई नॉमिनेशन के जरिये भविष्य निधि खाते में नॉमिनी बनाने की अपील की है।

क्या है तरीका

 बता दे ईपीएफओ पर नॉमिनेशन के दौरान कर्मचारी को 2 लोगों के दस्तावेजों की जरूरत होगी। एक वह जो कर्मचारी होगा और दूसरा वह जिसको नॉमिनी बनाया जा रहा है, बताया जा रहा है कि अब ईपीएफ खाताधारक डिजिटल तरीके से भी अपने नॉमिनी का नाम जोड़ सकता है। परंतु इसका लाभ वही कर्मचारी उठा सकते हैं जिनका यूएएन नंबर सक्रिय है, कार्य कर रहे कर्मचारी का मोबाइल नंबर आधार के साथ लिंक होना जरूरी है।

अन्य न्यूज़