करीब 328 कंपनियों ने लिया RBI की कर्ज भुगतान में तीन माह की छूट का लाभ

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अप्रैल 25, 2020   20:50
करीब 328 कंपनियों ने लिया RBI की कर्ज भुगतान में तीन माह की छूट का लाभ

रिजर्व बैंक ने कोविड-19 की वजह से 27 मार्च को कर्ज लेने वाली इकाइयों को मार्च-मई के दौरान तीन माह तक ऋण का भुगतान नहीं करने की छूट दी। यह एक स्वैच्छिक उपाय है। इसमें रोक की अवधि के दौरान ऋण पर ब्याज बढ़ता रहेगा।

मुंबई। विभिन्न क्षेत्रों की करीब 328 इकाइयों ने रिजर्व बैंक द्वारा कर्ज भुगतान में दी गई तीन महीने की छूट का लाभ लिया है। रेटिंग एजेंसी इक्रा ने शनिवार को यह जानकारी दी। कोरोना वायरस महामारी की वजह से पैदा हुए संकट के मद्देनजर केंद्रीय बैंक ने कर्ज भुगतान पर तीन माह की रोक लगाई है। इक्रा द्वारा रेटिंग वाली कई इकाइयां मसलन एयर इंडिया एक्सप्रेस, ओएनजीसी पेट्रो एडिशंस, टाटा समूह की इकाइयां, जेएसडब्ल्यू समूह और जीएमआर समूह इसमें शामिल है। रिजर्व बैंक ने कोविड-19 की वजह से 27 मार्च को कर्ज लेने वाली इकाइयों को मार्च-मई के दौरान तीन माह तक ऋण का भुगतान नहीं करने की छूट दी। यह एक स्वैच्छिक उपाय है। इसमें रोक की अवधि के दौरान ऋण पर ब्याज बढ़ता रहेगा।

विशेषज्ञों का मानना है कि इस कदम से सामान्य तौर पर ऋण भुगतान की अवधि लंबी हो जाएगी। इक्रा ने कहा कि वह इकाइयों के नामों का खुलासा भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी) से मिले अधिकार के तहत कर रही है। रेटिंग एजेंसी ने स्पष्ट किया है कि ऋण देने वाले संस्थान से औपचारिक मंजूरी मिलने तक इन इकाइयों द्वारा कर्ज का भुगतान नहीं करने को चूक नहीं माना जाएगा। एजेंसी ने कहा कि एयर इंडिया एक्सप्रेस पर 1,301 करोड़ रुपये और ओएनजीसी पेट्रो एडिशंस पर 33,180 करोड़ रुपये का कर्ज है। दोनों कंपनियों ने ऋण भुगतान में रोक का लाभ लिया है। ओएनीसी पेट्रो एडिशंस पर 15.5 करोड़ डॉलर का विदेशी कर्ज भी है। इंटरग्लोब होटल्स पर 811 करोड़ रुपये का कर्ज है। इसने भी भुगतान पर छूट का लाभ लिया है।

इसे भी पढ़ें: कैट ने दुकानें खोलने की छूट किया स्वागत, दुकानदार राज्यों के निर्देशानुसार चलेंगे

इसके अलावा होटल क्षेत्र की कुछ अन्य कंपनियों मसलन लेमन ट्री होटल्स और बार्बिक्यू नेशन हॉस्पिटैलिटी ने भी इस राहत का लाभ लिया है। वित्तीय क्षेत्र की कंपनियों में सेंट्रम फाइनेंशियल सर्विसेज, क्रेडिटएक्सेस ग्रामीण, इंडोस्टार कैपिटल फाइनेंस, मधुर माइक्रो फाइनेंस, स्पंदना स्फूर्ति फाइनेंशियल ने भी ऋण का भुगतान टालने का फैसला किया है। जीएमआर समूह की इकाइयों...जीएमआर अंबाला चंडीगढ़ एक्सप्रेसवेज (240 करोड़ रुपये कर्ज) और जीएमआर हैदराबाद एविएशन एसईजेड (58 करोड़ रुपये) ने भी रिजर्व बैंक द्वारा दी गई छूट का लाभ लिया है। इसी तरह सज्जन जिंदल की अगुवाई वाले जेएसडब्ल्यू समूह की इकाइयों जेएसडब्ल्यू स्टील (71,952 करोड़ रुपये का कर्ज) और गैर-सूचीबद्ध कंपनी जेएसडब्ल्यू पेंट्स (160 करोड़ रुपये) ने भी ऋण भुगतान में छूट का लाभ लिया है।

इसे भी पढ़ें: Ola की दिल्ली सरकार के साथ भागीदारी, मरीजों को देगी मुफ्त कैब सेवा

टाटा समूह की इकाइयों...टाटा पावर (7,231 करोड़ रुपये कर्ज), टाटा जीवीके होटल्स एंड रिजॉर्ट्स (195 करोड़ रुपये) और टाटा पावर रिन्यूएबल एनर्जी ने भी रिजर्व बैंक की ओर से दी गई राहत का लाभ लिया है। अजय पीरामल समूह की प्रमुख कंपनी पीरामल कैपिटल एंड हाउसिंग फाइनेंस पर करीब 30,000 करोड़ रुपये का कर्ज है। इस कंपनी ने भी ऋण भुगतान में मिली छूट का लाभ लिया है। इसी तरह कल्याण ज्वेलर्स जिसपर सितंबर, 2019 तक 3,555 करोड़ रुपये का ऋण बकाया था, ने भी तीन माह तक कर्ज का भुगतान नहीं करने का फैसला किया है। निजी क्षेत्र की कंपनी पराग मिल्क फूड्स ने भी इस छूट का लाभ लिया है। कंपनी पर 390 करोड़ रुपये का कर्ज बकाया है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।