बैंक ऑफ इंग्लैंड ने अपनी वर्षगांठ पर 325 ऐतिहासिक वस्तुओं की प्रदर्शनी लगाई

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Jul 21 2019 5:13PM
बैंक ऑफ इंग्लैंड ने अपनी वर्षगांठ पर 325 ऐतिहासिक वस्तुओं की प्रदर्शनी लगाई
Image Source: Google

बैंक ऑफ इंग्लैंड ने अपनी 325वीं वर्षगांठ मनाने के लिए 325 ऐतिहासिक वस्तुओं की प्रदर्शनी लगाई है जिनमें सबसे पुराने बैंकनोट के साथ ही शीतयुद्ध परमाणु विकिरण कैलकुलेटर भी शामिल है। ब्रिटेन का ‘सेंट्रल बैक’ स्वीडन बैंक के बाद विश्व का दूसरा सबसे प्राचीन बैंक है और पुराने समय की याद दिलाने से इसका मकसद उन दिनों की तरफ लौटना है जब उसके बैंक नोट हाथ से लिखे जाते थे।

लंदन। बैंक ऑफ इंग्लैंड ने अपनी 325वीं वर्षगांठ मनाने के लिए 325 ऐतिहासिक वस्तुओं की प्रदर्शनी लगाई है जिनमें सबसे पुराने बैंकनोट के साथ ही शीतयुद्ध परमाणु विकिरण कैलकुलेटर भी शामिल है। ब्रिटेन का ‘सेंट्रल बैक’ स्वीडन बैंक के बाद विश्व का दूसरा सबसे प्राचीन बैंक है और पुराने समय की याद दिलाने से इसका मकसद उन दिनों की तरफ लौटना है जब उसके बैंक नोट हाथ से लिखे जाते थे।

इसे भी पढ़ें: भारतीय महिला ने किया देश का नाम रोशन, ये बनी विश्व बैंक की पहली महिला प्रबंध निदेशक

प्रदर्शनी में रखी गई वस्तुओं में 40 पाउंड का एक नोट है जो 1702 के समय का है जो उस समय बड़ी राशि मानी जाती थी जिसकी कीमत आज की तारीख में 9,000 पाउंड से ज्यादा है। साथ ही इसमें एक जाली बैंक नोट भी है जो पहली बार 1858 में सामने आया था जब एक ग्राहक ने सोने के बदले में इसे बदलने की कोशिश की थी। इसे जाली बताकर इस पर स्टांप लगा कर वापस कर दिया गया लेकिन यह 1898 में फिर से नजर आया और फिर बैंक के पास आया। किसी ने कड़ी मेहनत के बाद इस पर से स्टांप मिटा दिया था। इस बार बैंक ने इसे रख लिया। बैंक ऑफ इंग्लैंड म्यूजियम के क्यूरेटर जेन्नी एडम ने कहा कि यह बड़ी दिलचस्प बात है कि लोग कैसे हर बार अपनी किस्मत आजमाते हैं।



रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप