निजी क्षेत्र से होकर जाता है भारत की वृद्धि एवं विकास का रास्ताः भार्गव

RC Bhargava
प्रतिरूप फोटो
ANI
अग्रणी कार विनिर्माता मारुति सुजुकी इंडिया के चेयरमैन आर सी भार्गव ने शनिवार को कहा कि भारत के लिए वृद्धि एवं विकास का आगे का रास्ता निजी क्षेत्र पर निर्भरता से होकर ही जाता है।

गांधीनगर, 28 अगस्त। अग्रणी कार विनिर्माता मारुति सुजुकी इंडिया के चेयरमैन आर सी भार्गव ने शनिवार को कहा कि भारत के लिए वृद्धि एवं विकास का आगे का रास्ता निजी क्षेत्र पर निर्भरता से होकर ही जाता है। भार्गव ने यहां संवाददाताओं के साथ बातचीत में कहा कि मौजूदा केंद्र सरकार ने निजी क्षेत्र पर पूरा भरोसा दिखाकर उद्योग जगत को देश की आर्थिक एवं औद्योगिक प्रगति और रोजगार सृजन के मोर्चे पर आगे आने के लिए प्रेरित किया।

भार्गव ने आने वाले समय में उद्योग के परिदृश्य के बारे में पूछे जाने पर कहा, ‘‘60-65 वर्षों तक सरकारी एवं सार्वजनिक क्षेत्र के जरिये ही वृद्धि की राह देखने की कोशिश की गई लेकिन मेरे मन में कोई संदेह नहीं है कि भारत के लिए आगे की राह निजी क्षेत्र पर विश्वास से जुड़ी हुई है।’’ हालांकि इसके साथ ही उन्होंने यह माना कि निजी क्षेत्र की कुछ अपनी समस्याएं एवं खामियां हैं और यह कलंक से बचा हुआ नहीं है। उन्होंने कहा, ‘‘मैं एक पल के लिए भी यह नहीं कहना चाहता कि निजी क्षेत्र परिपूर्ण है। लेकिन अगर आप निजी एवं सार्वजनिक क्षेत्र के गुण-दोष को परखें तो निजी क्षेत्र के गुण सार्वजनिक क्षेत्र की खूबियों पर भारी पड़ेंगे।’’

उन्होंने सरकार की तरफ से चलाए जा रहे निजीकरण अभियान का स्वागत करते हुए कहा कि कारोबारी सुगमता बढ़ाने, दिवाला संहिता लाने, जीएसटी प्रणाली लागू करने और कॉरपोरेट कर में कटौती जैसे कदमों से परिदृश्य काफी बदल गया है। इसके साथ ही उन्होंने उम्मीद जताई कि चालू वित्त वर्ष भारतीय कार उद्योग के लिए रिकॉर्ड उत्पादन वाला साबित होगा। उन्होंने कहा, ‘‘कोविड-19 हालात से उबरने और सेमीकंडक्टर की आपूर्ति सुधरने से वर्ष 2022-23 में कार उद्योग का उत्पादन सर्वोच्च स्तर पर पहुंच जाएगा।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़