बीओबी कृषि डिजिटल प्लेटफार्म विकसित करेगा, छह सहमति पत्र पर हस्ताक्षर

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मार्च 26, 2019   18:02
बीओबी कृषि डिजिटल प्लेटफार्म विकसित करेगा, छह सहमति पत्र पर हस्ताक्षर

बैंक ने एक बयान में आगे कहा, आईबीएम इंडिया की साझेदारी में बैंक ऑफ बड़ौदा के आईटी सेंटर ऑफ एक्सीलेंस (आईटीसीओई)द्वारा एग्री-डिजिटल प्लेटफॉर्म का निष्पादन किया जाएगा।

नयी दिल्ली। सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक ऑफ बड़ौदा ने मंगलवार को कहा कि वह कृषि क्षेत्र की सभी प्रमुख जरूरतों का समाधान प्रदान करने के लिए  बड़ौदा किसान नामक कृषि-डिजिटल प्लेटफॉर्म विकसित करेगा। छह कंपनियां - स्काईमेट वेदर सर्विसेज, वेदर रिस्क मैनेजमेंट सर्विसेज, बिगहाट, एग्रोस्टार इंडिया,ईएम 3 एग्री सर्विसेज और पूर्ति एग्री सर्विसेज-ने इस परियोजना के लिए बैंक के साथ एक समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए हैं।

इसे भी पढ़ें: RBI ने स्विफ्ट से जुड़े नियमों का पालन नहीं करने पर 36 बैंकों पर लगाया जुर्माना

बैंक ने एक बयान में आगे कहा, आईबीएम इंडिया की साझेदारी में बैंक ऑफ बड़ौदा के आईटी सेंटर ऑफ एक्सीलेंस (आईटीसीओई)द्वारा एग्री-डिजिटल प्लेटफॉर्म का निष्पादन किया जाएगा। इसमें कहा गया है कि डिजिटल प्लेटफॉर्म कृषि संबंधी समस्याओं को हल करने के लिए, विश्वसनीय और विशिष्ट जानकारी, उपयोग के लिए इनपुट, कृषि उपकरण किराए पर लेने की सुविधा और कृषि-उत्पाद की बिक्री के लिए बाजार संपर्क के जरिये खेती बाड़ी की दिक्कतों को सुलझाने का एक समग्र दृष्टिकोण प्रदान करेगा।

इसे भी पढ़ें: शक्तिकांत दास ने बैंक अधिकारियों पूछा, कर्ज क्यों नहीं किया जा रहा सस्ता

बैंक ऑफ बड़ौदा के प्रबंध निदेशक और सीईओ पी एस जयकुमार ने कहा,  कृषि सेवाओं के डिजिटलीकरण का भारतीय अर्थव्यवस्था पर व्यापक प्रभाव पड़ेगा और यह सहयोग कृषि क्षेत्र में प्रौद्योगिकी के उपयोग को ध्यान में रखते हुए एक प्रयास है। उन्होंने कहा कि किसान भारत का एक अभिन्न अंग हैं, और  बड़ौदा किसान उनकी विभिन्न जरूरतों को पूरा करने के लिये समर्पित एक मंच है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।