ईपीएफओ की यह सलाह मानने से नहीं होगा आपको आर्थिक नुकसान,धोखाधड़ी के शिकार होने से भी बच जाएंगे

EPFO
, ईपीएफओ कभी भी अपने सदस्यों से उसके व्यक्तिगत विवरण जैसे आधार,पैन, यूएएन, बैंक अकाउंट डिटेल्स, ओटीपी को फोन या सोशल मीडिया पर शेयर करने के लिए नहीं कहता है।

अगर आपको कभी भी ऐसा मैसेज या कॉल आता है। इसमें आपसे यह कहा जाता है कि, कॉल ईपीएफओ की तरफ से है। तो आप बेहद सतर्क हो जाइए, क्योंकि यह कॉल या मैसेज फेक या फ्रॉड हो सकता है। अगर आपको ऐसा कोई भी कॉल आता है जिसमें बताया जाता है कि, ईपीएफओ की तरफ से है और आपसे उस दौरान आपके आधार, पैन, यूएएन, बैंक डिटेल्स या किसी भी तरह की अन्य जानकारी मांगी जाती है तो आप अपनी इन जानकारियों को उस कॉल के साथ कभी साझा ना करें। अगर आपने अपनी निजी जानकारियों को किसी भी फ्रॉड कॉल के साथ साझा किया तो आप को आर्थिक नुकसान उठाना पड़ सकता है।

 ईपीएफओ ने अपने सदस्यों को इस तरह के वित्तीय फ्रॉड से बचाने के लिए इससे संबंधित एक ट्वीट किया है। ईपीएफओ द्वारा किए गए ट्वीट में लिखा है कि, ईपीएफओ कभी भी अपने सदस्यों से उसके व्यक्तिगत विवरण जैसे आधार,पैन, यूएएन, बैंक अकाउंट डिटेल्स, ओटीपी को फोन या सोशल मीडिया पर शेयर करने के लिए नहीं कहता है।

 

ईपीएफओ ने दी सलाह धोखाधड़ी से बचें

 ईपीएफओ अपने सदस्यों को इस तरह के आर्थिक नुकसान और धोखाधड़ी से बचने के लिए सलाह देता है कि, आप किसी अनजान व्यक्ति के साथ कभी भी अपनी निजी जानकारी जैसे आधार,पैन, यूएएन और बैंक डिटेल्स को शेयर ना करें। अगर आपके पास ऐसी कोई भी फ्रॉड कॉल आती है, जिसमें कहा जाता है कि वह ईपीएफओ की तरफ से है तो आप बेहद सावधानी बरतिये। क्योंकि ईपीएफओ कभी भी आपसे फोन करके आपकी निजी जानकारी शेयर करने के लिए नहीं कहता है। इसके अलावा ईपीएफओ के सदस्य ईपीएफओ की सेवाओं और उससे संबंधित सूचना को प्राप्त करने के लिए, ईपीएफओ की आधिकारिक वेबसाइट epfindia.gov.in पर जाकर सूचना प्राप्त कर सकते हैं।

अन्य न्यूज़