मुश्किल वक्त में इंडिगो में फेरबदल जारी

Indigo
Google Creative Commons.
किफायती विमानन सेवाएं मुहैया कराने वाली इंडिगो ने मार्च से नए चेयरमैन, मुख्य वित्त अधिकारी (सीएफओ) और मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईओ) की नियुक्ति की है।

दिल्ली/मुंबई| तीन माह से कुछ पहले देश की सबसे बड़ी विमानन कंपनी इंडिगो के सफल सह-संस्थापक राहुल भाटिया और राकेश गंगवाल सुर्खियों में थे। दरअसल चार फरवरी को घोषणा की गई कि भाटिया विमानन कंपनी के प्रबंध निदेशक के रूप में कार्यभार संभालेंगे और 18 फरवरी को यह घोषणा की गई कि गंगवाल ने बोर्ड से इस्तीफा दे दिया है।

भाटिया ने चार फरवरी को प्रबंध निदेशक के रूप में पदभार संभाला और तब से इंडिगो में काफी फेरबदल हुए हैं।

किफायती विमानन सेवाएं मुहैया कराने वाली इंडिगो ने मार्च से नए चेयरमैन, मुख्य वित्त अधिकारी (सीएफओ) और मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईओ) की नियुक्ति की है।

आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक, मार्च में इंडिगो की बाजार हिस्सेदारी 54.8 प्रतिशत थी। इंडिगो के बेड़े में लगभग 300 विमान हैं। इंडिगो के शीर्ष अधिकारियों में ताजा बदलाव सीईओ के रूप में पीटर एल्बर्स की नियुक्ति है।

वह इस साल एक अक्टूबर को या उससे पहले विमानन कंपनी में शामिल होंगे, जबकि मौजूदा सीईओ रोनोजय दत्ता 30 सितंबर को सेवानिवृत्त होंगे। कंपनी ने चार मई को 75 वर्ष की आयु पूरी करने पर चेयरमैन एम दामोदरन के पद छोड़ने की घोषणा की।

अब इंडिगो की मूल कंपनी इंटरग्लोब एविएशन की अगुवाई वेंकटरमणी सुमंत्रन कर रहे हैं। जितेन चोपड़ा के इस्तीफे के बाद 29 मार्च से गौरव नेगी सीएफओ बने।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़