जून में कोयला आयात 50 प्रतिशत बढ़कर 1.87 करोड़ टन पर

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अगस्त 29, 2021   12:24
जून में कोयला आयात 50 प्रतिशत बढ़कर 1.87 करोड़ टन पर

जून, 2020 में देश का कोयला आयात 1.25 करोड़ टन रहा था। जून में प्रमुख और गैर-प्रमुख बंदरगाहें से भारत का कोयला आयात चालू वित्त वर्ष के मई महीने की तुलना में 5.76 प्रतिशत घट गया।

नयी दिल्ली। देश का कोयला आयात इस साल जून में 50 प्रतिशत बढ़कर 1.87 करोड़ टन पर पहुंच गया। एमजंक्शन सर्विसेज के आंकड़ों में यह जानकारी दी गई है। पिछले साल जून में भारत का कोयला आयात 1.25 करोड़ टन रहा था। एमजंकशन टाटा स्टील और सेल का संयुक्त उद्यम है। यह एक बी2बी ई-कॉमर्स कंपनी है जो कोयले पर शोध रपट भी प्रकाशित करती है। एमजंक्शन सर्विसेज ने कहा कि जून में कोयला आयात 1.87 करोड़ टन रहा। समीक्षाधीन महीने में कोयले का आयात जून, 2020 की तुलना में 50.05 प्रतिशत बढ़ा है। 

इसे भी पढ़ें: ED ने इस आभूषण कंपनी की 363 करोड़ से अधिक की संपत्तियां कुर्क की, मनी लांड्रिंग का लगा आरोप

जून, 2020 में देश का कोयला आयात 1.25 करोड़ टन रहा था। जून में प्रमुख और गैर-प्रमुख बंदरगाहें से भारत का कोयला आयात चालू वित्त वर्ष के मई महीने की तुलना में 5.76 प्रतिशत घट गया। एमजंक्शन सर्विसेज के प्रबंध निदेशक एवं मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईओ) विनय वर्मा ने कहा, ‘‘जून में कोयले के आयात में उम्मीद के अनुरूप मामूली गिरावट आई। यह रुख मानसून के दौरान जारी रहने की संभावना है, क्योंकि कीमतें कई साल के उच्चस्तर पर बनी हुई हैं।’’ जून में कुल कोयला आयात में नॉन-कोकिंग कोल का हिस्सा 1.30 करोड़ टन रहा। पिछले साल जून में यह आंकड़ा 82.8 लाख टन रहा था। 

इसे भी पढ़ें: क्या देश की संपत्तियाँ बेच रही है सरकार ? कैसे सुलझेगी कांग्रेस की उलझन

वहीं इस दौरान कोकिंग कोयले का आयात 24.6 लाख टन से बढ़कर 40.6 लाख टन पर पहुंच गया। अप्रैल-जून, 2021 के दौरान कुल कोयला आयात पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि से करीब 32.13 प्रतिशत बढ़कर 6.09 करोड़ टन पर पहुंच गया। जून तिमाही के दौरान नॉन-कोकिंग कोयले का आयात बढ़कर 4.20 करोड़ टन पर पहुंच गया, जो एक साल पहले समान अवधि में 3.10 करोड़ टन था। इसी तरह कोकिंग कोयले का आयात 88.7 लाख टन से बढ़कर 1.32 करोड़ टन पर पहुंच गया।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।