Deloitte ने कहा कि महंगाई के बावजूद भारतीय उपभोक्ता अब महंगे वाहन खरीदने को तैयार हैं

Deloitte
प्रतिरूप फोटो
Google Creative Commons
परामर्श कंपनी डेलॉयट के 2023 वैश्विक वाहन उपभोक्ता अध्ययन (जीएसीएस) की रिपोर्ट के अनुसार, वे अब कीमत से ज्यादा एहसास को तरजीह दे रहे हैं, जो वाहन खरीद के उनके रुझान में बदलाव का स्पष्ट संकेत है।

महंगाई की आशंका के बावजूद भारतीय उपभोक्ता अपना अगला वाहन महंगा खरीदने के लिये अधिक कीमत चुकाने को इच्छुक हैं। डेलॉइट द्वारा किए गए अध्ययन के अनुसार, इनमें से ज्यादातर लोग 10 से 25 लाख रुपये तक कीमत की गाड़ी देख रहे हैं। परामर्श कंपनी डेलॉयट के 2023 वैश्विक वाहन उपभोक्ता अध्ययन (जीएसीएस) की रिपोर्ट के अनुसार, वे अब कीमत से ज्यादा एहसास को तरजीह दे रहे हैं, जो वाहन खरीद के उनके रुझान में बदलाव का स्पष्ट संकेत है।

इनमें से ज्यादातर लोगों को तो बेहतर एहसास और पसंदीदा वाहन पाने में 4-12 सप्ताह का इंतजार करने से भी कोई परेशानी नहीं है। भारत में यह अध्ययन पिछले साल 21 से 29 सितंबर तक हुआ था, जिसमें 1,003 उपभोक्ताओं से सवाल पूछे गए थे। शोध में पता चला कि लगभग 47 प्रतिशत प्रतिभागियों ने 10-25 लाख रुपये कीमत के वाहन खरीदने की इच्छा जताई। अध्ययन के अनुसार, सिर्फ 28 प्रतिशत उपभोक्ताओं ने 10 लाख या इससे कम कीमत की गाड़ी खरीदने की इच्छा जताई।

लगभग 57 प्रतिशत प्रतिभागियों ने 10-25 लाख रुपये तक के इलेक्ट्रिक वाहन खरीदने जबकि 20 प्रतिशत ने 10 लाख रुपये से कम कीमत के इलेक्ट्रिक वाहन को खरीदने की इच्छा जताई। रिपोर्ट में कहा गया, इससे भारतीय उपभोक्ताओं के वाहन खरीदने के रुझान में स्पष्ट बदलाव दिखा। इससे पता चलता है कि एक औसत उपभोक्ता कीमत पर एहसास को तरजीह दे रहा है। वहीं पारंपरिक भारतीय उपभोक्ता कीमतों को ध्यान में रखता है और कीमत बनाम माइलेज की तुलना वाहन खरीदते समय सबसे महत्वपूर्ण हो जाती है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़