चुनौतियों के बावजूद विमानन क्षेत्र को लेकर आशावान: नरेश गोयल

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Jul 20 2018 10:18AM
चुनौतियों के बावजूद विमानन क्षेत्र को लेकर आशावान: नरेश गोयल
Image Source: Google

जेट एयरवेज के चेयरमैन नरेश गोयल ने कहा है कि ईंधन की कीमत में वृद्धि तथा ऊंचे कराधान के बावजूद घरेलू विमानन उद्योग को लेकर उनका नजरिया सकारात्मक बना हुआ है।

मुंबई। जेट एयरवेज के चेयरमैन नरेश गोयल ने कहा है कि ईंधन की कीमत में वृद्धि तथा ऊंचे कराधान के बावजूद घरेलू विमानन उद्योग को लेकर उनका नजरिया सकारात्मक बना हुआ है। गोयल ने एयरलाइन की 2017-18 की सालाना रिपोर्ट में कहा है, ‘‘ब्रेंट क्रूड की ऊंची कीमत तथा शुल्क, अधिभार तथा कराधान बढाये जाने की चुनौतियों के बावजूद मैं भारत में विमानन क्षेत्र की संभावना को लेकर आशावान हूं।’’ उन्होंने कहा कि परिदृश्य आकर्षक बना हुआ है।  

 
घरेलू हवाई यात्री बाजार में जून महीने में 18.6 प्रतिशत की वृद्धि हुई। यह लगातार 46 वां महीना है जब घरेलू हवाई यात्री बाजार में अच्छी वृद्धि हुई है। इंटरनेशनल एयर ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन (आईएटीए) ने यह अनुमान जताया है कि 2025 तक ब्रिटेन को पीछे छोड़ते हुए भारत तीसरा सबसे बड़ा विमानन बाजार होगा। आय में पांच प्रतिशत के करीब वृद्धि के बावजूद लागत बढ़ने के कारण जेट एयरवेज को वित्त वर्ष 2017-18 में 636.45 करोड़ रुपये का घाटा हुआ।

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप