‘स्टार्टअप’ नया चलन, डिजिटलीकरण ने नए अवसर पैदा किये : चंद्रशेखर

Chandrashekhar
ANI Photo.
उन्होंने कहा, ‘‘इन दिनों स्टार्टअप्स कोई फैशन नहीं, बल्कि एक नया चलन है। ये पिछले आठ वर्षों में नरेंद्र मोदी सरकार द्वारा शुरू की गई सक्रिय नीतियों और सुधारों की वजह से भारतीय अर्थव्यवस्था में आए गहरे संरचनात्मक परिवर्तनों से उभरने वाली नई वास्तविकता हैं।’’

नयी दिल्ली|  केंद्रीय इलेक्‍ट्रॉनिक और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री राजीव चंद्रशेखर ने सोमवार को कहा कि देश में स्टार्टअप नया चलन बन गया है और यह नीतियों और सुधारों की वजह से अर्थव्यवस्था में आए गहरे संरचनात्मक परिवर्तनों को दर्शाता है।

चंद्रशेखर ने अहमदाबाद के निरमा विश्वविद्यालय में ‘युवा भारत के लिए नये भारत: प्रौद्योगिकी के अवसरों का दशक’ विषय पर प्रस्तुति के दौरान एक छात्र के पूछे गए प्रश्नों के उत्तर में यह बात कही।

उन्होंने कहा, ‘‘इन दिनों स्टार्टअप्स कोई फैशन नहीं, बल्कि एक नया चलन है। ये पिछले आठ वर्षों में नरेंद्र मोदी सरकार द्वारा शुरू की गई सक्रिय नीतियों और सुधारों की वजह से भारतीय अर्थव्यवस्था में आए गहरे संरचनात्मक परिवर्तनों से उभरने वाली नई वास्तविकता हैं।’’

उन्होंने कहा कि कोविड-19 महामारी के दौरान तेजी से डिजिटलीकरण ने आमतौर पर भारत के लिए और विशेष रूप से युवा भारतीयों के लिए नए अवसर खोले हैं।

केंद्रीय मंत्री गुजरात के दो दिन के दौरे पर हैं। वह यहां अहमदाबाद, मेहसाणा, वडोदरा और आणंद में स्टार्टअप, उद्यमियों और छात्रों के साथ जुड़ेंगे और बातचीत करेंगे।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़