ट्राई ने कहा, 27.5-28.5 गीगाहर्ट्ज फ्रीक्वेंसी रेंज पर डॉट करेगा निर्णय

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मई 10, 2022   07:52
ट्राई ने कहा, 27.5-28.5 गीगाहर्ट्ज फ्रीक्वेंसी रेंज पर डॉट करेगा निर्णय
ANI Twitter.

दूरसंचार विभाग (डॉट) द्वारा न्यूनतम रोलआउट दायित्वों को 3,300-3,670 मेगाहर्ट्ज बैंड और 24.25-27.5 गीगाहर्ट्ज बैंड पर संयुक्त तरीके से लागू करने की बात कहने पर ट्राई ने तर्क दिया कि इन बैंडों की नीलामी एक साथ नहीं, बल्कि अलग से की जाएगी।

नयी दिल्ली| दूरसंचार नियामक ट्राई ने सोमवार को कहा कि आईएमटी/ 5जी सेवाओं के लिए 27.5-28.5 गीगाहर्ट्ज की फ्रीक्वेंसी रेंज आवंटित या उसकी नीलामी करने के बारे में दूरसंचार विभाग को फैसला करना है।

भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (ट्राई) ने 3,300-3,670 मेगाहर्ट्ज और 24.25-27.5 गीगाहर्ट्ज बैंड के लिए निर्धारित अलग-अलग बैंड विशेष के लिए न्यूनतम रोलआउट दायित्वों पर अपने सिफारिशों का बचाव किया।

दूरसंचार विभाग (डॉट) द्वारा न्यूनतम रोलआउट दायित्वों को 3,300-3,670 मेगाहर्ट्ज बैंड और 24.25-27.5 गीगाहर्ट्ज बैंड पर संयुक्त तरीके से लागू करने की बात कहने पर ट्राई ने तर्क दिया कि इन बैंडों की नीलामी एक साथ नहीं, बल्कि अलग से की जाएगी।

ट्राई ने कहा कि इन दोनों बैंडों की तकनीकी विशेषताएं काफी अलग हैं और इन स्पेक्ट्रम बैंडों के उपयोग के मामले भी अलग होने की संभावना है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।