भारत-यूरोपीय संघ बैठक में ई-कॉमर्स नीति के मसौदे, डेटा संरक्षण पर होगा विचार

draft-e-commerce-policy-data-protection-may-figure-at-india-eu-meet-in-brussels
बैठक में जिन अन्य मुद्दों पर विचार होगा, उनमें भारत द्वारा तेजी से हाइब्रिड और इलेक्ट्रिक वाहनों के विनिर्माण और उसे अपनाने की योजना फेम का दूसरा चरण, इस्पात गुणवत्ता का मुद्दा, अल्कोहल वाले पेय के लिए बाजार पहुंच और कॉस्मेटिक से संबंधित नियम शामिल हैं।

नयी दिल्ली। भारत और यूरोपीय संघ (ईयू) के बीच चार जुलाई को ब्रसल्स में होने वाली बैठक में ई-कॉमर्स नीति के मसौदे, डेटा संरक्षण और कुछ चिकित्सा उपकरणों की कीमतों पर नियंत्रण जैसे मुद्दों पर विचार विमर्श होगा। सूत्रों ने यह जानकारी दी। दोनों देशों के अधिकारी व्यापार उप आयोग की बैठक के तहत इन मुद्दों पर विचार कर सकते हैं। 

इसे भी पढ़ें: सभी वस्तुओं को जीएसटी के दायरे में लाने का सही समय: उद्योग जगत

बैठक में जिन अन्य मुद्दों पर विचार होगा, उनमें भारत द्वारा तेजी से हाइब्रिड और इलेक्ट्रिक वाहनों के विनिर्माण और उसे अपनाने की योजना फेम का दूसरा चरण, इस्पात गुणवत्ता का मुद्दा, अल्कोहल वाले पेय के लिए बाजार पहुंच और कॉस्मेटिक से संबंधित नियम शामिल हैं। 

इसे भी पढ़ें: होंडा कार्स अपने वाहनों के दाम 1.2% बढ़ाने पर कर रही है विचार

सूत्रों ने कहा कि इस बैठक का मुख्य मकसद दोनों पक्षों के बीच व्यापार और निवेश बढ़ाने के और तरीके ढूंढना है। भारत और यूरोपीय संघ पहले से वृहद मुक्त व्यापार करार पर बातचीत कर रहे हैं। इसे आधिकारिक रूप से द्विपक्षीय व्यापार एवं निवेश करार (बीटीआईए) कहा जाता है। कई मसलों पर मतभेदों के चलते यह वार्ता मई, 2013 से रुकी हुई है। ई-कॉमर्स नीति के मसौदे, डेटा सुरक्षा नियम और कोरोनरी स्टेंट जैसे चिकित्सा उपकरणों की कीमतों पर विचार इस दृष्टि से महत्व रखता है कि कई बहुराष्ट्रीय कंपनियां इन मसलों पर अपनी चिंता जता चुकी हैं। 

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़