ये दो संगठन मिलकर विकसित करेंगे भविष्य के रक्षा, कृषि, स्वास्थ्य समाधान

Dynamatic inks pact with CSIR-CSIO
बेंगलुरू की डायनामैटिक ने एक बयान में कहा, ‘‘सीएसआईओ के साथ हमारी साझेदारी भारत सरकार के ‘आत्मनिर्भर भारत’ अभियान के अनुरूप है। सार्वजनिक क्षेत्र की शोध प्रयोगशाला और निजी क्षेत्र के बीच यह साझेदारी देश को आत्मनिर्भर बनाने के हमारे लक्ष्य में एक मील का पत्थर साबित होगी।’’

बेंगलुरू। डायनामैटिक टेक्नोलॉजीस लिमिटेड और केंद्रीय वैज्ञानिक उपकरण संगठन (सीएसआईओ) ने विभिन्न क्षेत्रों में भविष्य के समाधान विकसित करने के लिए समझौता किया है। दोनों संयुक्त तौर पर रक्षा एवं हवाई क्षेत्र, स्वास्थ्य और कृषि क्षेत्र के लिए डिजाइनिंग, विकास और विनिर्माण करेंगे। बेंगलुरू की डायनामैटिक ने एक बयान में कहा, ‘‘सीएसआईओ के साथ हमारी साझेदारी भारत सरकार के ‘आत्मनिर्भर भारत’ अभियान के अनुरूप है। सार्वजनिक क्षेत्र की शोध प्रयोगशाला और निजी क्षेत्र के बीच यह साझेदारी देश को आत्मनिर्भर बनाने के हमारे लक्ष्य में एक मील का पत्थर साबित होगी।’’

इसे भी पढ़ें: ट्रैवल-टूरिज्म सेक्टर में वैश्विक स्तर पर 17.4 करोड़ नौकरियां जाने का अनुमान

दोनों के बीच इसे लेकर एक सहमति ज्ञापन पत्र हस्ताक्षर हुए हैं। दोनों मिलकर ड्रोन (अनमैन्ड एरियल सिस्टम्स) के लिए बहु-वर्णक्रमीय निगरानी पेलोड के शोध, ड्रोन के माध्यम से खेतों में छिड़काव की प्रौद्योगिकी, वेंटिलेटर और घरों की सुरक्षा के लिए उपकरण विकसित करने पर काम करेंगे। सीएसआईओ, भारत सरकार के विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय के वैज्ञानिक तथा औद्योगिक अनुसंधान परिषद (सीएसआईआर) से संबद्ध है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़