गुरुमूर्ति ने कहा, नोटबंदी नहीं की गई होती, तो अर्थव्यवस्था ढह जाती

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 16, 2018   11:24
गुरुमूर्ति ने कहा, नोटबंदी नहीं की गई होती, तो अर्थव्यवस्था ढह जाती

भारतीय रिजर्व बैंक के निदेशक मंडल के सदस्य एस गुरुमूर्ति ने बृहस्पतिवार को कहा कि यदि नवंबर, 2016 में नोटबंदी नहीं की गई होती, तो अर्थव्यवस्था ढह जाती।

नयी दिल्ली। भारतीय रिजर्व बैंक के निदेशक मंडल के सदस्य एस गुरुमूर्ति ने बृहस्पतिवार को कहा कि यदि नवंबर, 2016 में नोटबंदी नहीं की गई होती, तो अर्थव्यवस्था ढह जाती। उन्होंने कहा कि 500 और 1,000 रुपये के नोटों जैसे बड़े मूल्य के नोटों का इस्तेमाल रीयल एस्टेट तथा सोने की खरीद में किया जाता था। 

गुरुमूर्ति ने विवेकानंद इंटरनेशनल फाउंडेशन में व्याख्यान में कहा कि नोटबंदी से 18 माह पहले 500 और 1,000 रुपये के नोट 4.8 लाख करोड़ रुपये पर पहुंच गए। रीयल एस्टेट और सोने की खरीद में इन नोटों का इस्तेमाल किया जाता था। यदि नोटबंदी नहीं होती तो हमारा हाल भी 2008 के सब प्राइम ऋण संकट जैसा हो जाता। गुरुमूर्ति ने कहा कि यदि ऐसा नहीं हुआ होता तो भारतीय अर्थव्यवस्था ढह जाती। यह एक सुधारात्मक उपाय था।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।