• ISRO ने किया गगनयान के विकास इंजन का सफल परीक्षण, एलन मस्क ने ट्वीट कर दी बधाई

स्पेसएक्स के सीईओ एलन मस्क ने भारत के इस सफलतापूर्वक टेस्ट के लिए भारत को बधाई दी है। मस्क ने एक ट्वीट पर भारत के ध्वज इमोटिकॉन के साथ बधाई! लिखा है।

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ISRO ने  गगनयान प्रोग्राम के लिए विकास इंजन के तीसरे लंबी अवधि के "हॉट टेस्ट" को सफलतापूर्वक आयोजित किया। बता दें कि गगनयान अंतरिक्ष भेजे जाने वाला भारत का पहला मानवयुक्त मिशन है। यह भारतीयों को एक भारतीय वाहन में अंतरिक्ष में ले जाने के महत्वाकांक्षी गगनयान मिशन का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है।

इसी बीच स्पेसएक्स के सीईओ एलन मस्क ने भारत के इस सफलतापूर्वक टेस्ट के लिए भारत को बधाई दी है। मस्क ने एक ट्वीट पर भारत के ध्वज इमोटिकॉन के साथ "बधाई!" लिखा है। बता दें कि ISRO ने बुधवार को कहा कि, उसने मानव रेटेड GSLV MkIII वाहन का मानवयुक्त मिशन के लिए इंजन योग्यता आवश्यकताओं के लिए परीक्षण किया और यह सफल रहा है। इसरो ने कहा कि,इंजन को तमिलनाडु के महेंद्रगिरी स्थित इसरो प्रोपल्शन कॉम्पलेक्स में 240 सेकंड के लिए चलाया गया। इस दौरान इंजन का प्रदर्शन पिछले परीक्षण के दौरान लगाए गए अनुमानों से बिल्कुल मेल खाया। बता दें कि इसरो अपने इस गगनयान के माध्यम से मानव को अंतरिक्ष में भेजने और सफलतापूर्वक वापस लाने पर काम कर रहा है। 

एलन मस्क और भारत!

एलन मस्क ने 2002 में स्पेसएक्स की स्थापना की और वह ऐसे शख्स है जिन्होंने हमेशा से इसरो के प्रयासों की प्रशंसा की है। जब इसरो ने फरवरी 2017 में एक ही रॉकेट पर 104 उपग्रहों को लॉन्च किया, तब भी मस्क ने कहा कि वह रिकॉर्ड तोड़ उपलब्धि से बहुत प्रभावित हैं। पिछले साल जब स्पेसएक्स ने फाल्कन 9 रॉकेट पर अंतरिक्ष यात्रियों को पृथ्वी की कक्षा में लॉन्च किया, तो इसरो ने स्पेसएक्स और नासा को "ऐतिहासिक पहले लॉन्च" पर बधाई दी थी। बता दें कि इसरो के पूर्व अध्यक्ष जी माधवन नायर सहित कई इसरो वैज्ञानिकों ने स्पेसएक्स के मॉडल की हमेशा से ही प्रंशसा की है। जानकारी के लिए आपको बता दें कि, इसरो गगनयान मिशन को 2022 में लॉन्च किया जाना था लेकिन कोरोना महामारी के कारण समय सीमा को पूरा किया जाएगा या नहीं इसको लेकर काफी संदेह था।