ईपीएफ ग्राहकों को ब्याज मिलने में हो रही देरी, वित्त मंत्रालय ने बताया कारण

finance ministry
ANI Image
ईपीएफ ग्राहकों को केंद्रीय वित्त मंत्रालय ने बड़ी राहत दी है। वित्त मंत्रालय ने बताया कि ईपीएफ ग्राहकों को ब्याज के संबंध में कोई नुकसान नहीं झेलना पड़ेगा। मंत्रालय के मुताबिक जमा राशि निकालने वालों को ब्याज सहित भुगतान किया जा रहा है। हालांकि, ईपीएफओ द्वारा लागू हुए सॉफ्टवेयर अपग्रेड के चलते स्टेटमेंट में यह दिखाई नहीं दे रहा है।

नयी दिल्ली। वित्त मंत्रालय ने कहा है कि ईपीएफ ग्राहकों को ब्याज दर का कोई नुकसान नहीं हुआ है और सॉफ्टवेयर को अपग्रेड करने के कारण पिछले वित्त वर्ष के लिए ब्याज जमा करने में देरी हुई है। मंत्रालय ने कहा कि निपटान चाहने वाले सभी निवर्तमान अंशधारकों और अपनी जमा राशि निकालने वालों को ब्याज सहित भुगतान किया जा रहा है।

मंत्रालय ने बुधवार देर रात ट्वीट किया कि किसी भी ग्राहक को ब्याज का कोई नुकसान नहीं हुआ है। सभी ईपीएफ ग्राहकों के खातों में ब्याज जमा किया जा रहा है। हालांकि, ईपीएफओ (कर्मचारी भविष्य निधि संगठन) द्वारा लागू किए जा रहे एक सॉफ्टवेयर अपग्रेड के चलते स्टेटमेंट में यह दिखाई नहीं दे रहा है।

वित्त मंत्रालय ने ट्विटर पर आईटी उद्योग के दिग्गज टी वी मोहनदास पई के एक ट्वीट के जवाब में यह बात कही। पई ने कर्मचारी भविष्य निधि जमा में ब्याज पर सवाल उठाया था। मंत्रालय ने कहा कि निपटान की मांग करने वाले सभी निवर्तमान सदस्यों और निकासी की मांग करने वाले अंशधारकों को भुगतान ब्याज सहित किया जा रहा है। इससे पहले जून में सरकार ने 31 मार्च को समाप्त वित्त वर्ष 2021-22 के लिए पांच करोड़ से अधिक अंशधारकों के लिए ईपीएफ जमा पर 8.1 प्रतिशत ब्याज को मंजूरी दी थी। 

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़