3 करोड़ से ज्यादा आईटीआर हुए दाखिल, वित्त मंत्रालय ने दी यह जानकारी

finance ministry
प्रतिरूप फोटो
वित्त मंत्रालय की ओर से कहां गया है आयकर विभाग करदाताओं से आग्रह करता है कि वह अपने फॉर्म 26 एसएस और वार्षिक सूचना ब्यूरो को ई रिटर्न दाखिल करने के पोर्टल के जरिए देखें। जिससे उन्हें पता चलेगा कि स्रोत पर कर कटौती कर भुगतान सही है या नहीं।

इनकम टैक्स रिटर्न फाइल करने की लास्ट डेट 31 दिसंबर जैसे-जैसे करीब आ रही है। वैसे ही अब आइटीआर भरने वालों की संख्या में भी तेजी आ रही है। अगर आप भी लास्ट डेट के भीड़भाड़ से बचना चाहते हैं तो जल्द से जल्द अपना आईटीआर दाखिल कर लें।

वित्त मंत्रालय की जानकारी के मुताबिक, वित्त वर्ष 2020- 21 मैं अब तक 3 करोड़ से अधिक आयकर रिटर्न दाखिल किए जा चुके हैं। रोज दाखिल किए जाने वाले आयकर रिटर्न की संख्या में भी  इजाफा हुआ है। यह संख्या भी चार लाख से ऊपर हो गई है। वित्त मंत्रालय ने कहा है कि जो करदाता आयकर रिटर्न दाखिल नहीं कर पाए हैं वे अपना रिटर्न जल्दी से  जल्दी दाखिल करें।

कर विभाग का जागरूकता अभियान

कर विभाग अलग-अलग माध्यम जैसे ईमेल और sms के अलावा मीडिया अभियानों के माध्यम से करदाताओं को रिटर्न भरने के लिए प्रोत्साहित और जागरूक कर रहा है। विभाग ने आयकर रिटर्न दाखिल न करने वाले करदाताओं से अनुरोध किया है कि वे अपना आइटीआर अंतिम समय की भीड़ से बचने के लिए जल्द से जल्द दाखिल करें।

वित्त मंत्रालय की ओर से कहा गया है आयकर विभाग करदाताओं से आग्रह करता है कि वह अपने फॉर्म 26 एसएस  और वार्षिक सूचना ब्यूरो को ई रिटर्न दाखिल करने के पोर्टल के जरिए देखें। जिससे उन्हें पता चलेगा कि स्रोत पर कर कटौती कर भुगतान सही है या नहीं।

अन्य न्यूज़