हाइब्रिड वाहनों पर GST दर घटाने का आग्रह करेंगे गडकरी

नितिन गडकरी ने आज कहा कि वह वित्त मंत्री अरुण जेटली से हाइब्रिड वाहनों तथा वैकल्पिक ईंधन पर चलने वाले अन्य वाहनों पर वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) दर घटाने का आग्रह करेंगे।

केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने आज कहा कि वह वित्त मंत्री अरुण जेटली से हाइब्रिड वाहनों तथा वैकल्पिक ईंधन पर चलने वाले अन्य वाहनों पर वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) दर घटाने का आग्रह करेंगे। पिछले सप्ताह जिन जीएसटी दरों की घोषणा की गई है उनके हिसाब से हाइब्रिड कारों पर सबसे उच्चतम 28 प्रतिशत की दर के साथ 15 प्रतिशत का उपकर भी लगेगा। इस हिसाब से इन वाहनों पर कुल कर की दर 43 प्रतिशत बैठेगी, जो बड़ी लग्जरी कारों और एसयूवी के बराबर होगी। हाइब्रिड वाहनों को पर्यावरण अनुकूल माना जाता है।

वाहन उद्योग इतनी ऊंची दर पर चिंता जता चुका है। उद्योग का कहना है कि इससे सरकार की हरित वाहनों को प्रोत्साहन की योजना में अड़चन आएगी। फिलहाल हाइब्रिड वाहनों पर 12.5 प्रतिशत का उत्पाद शुल्क लगता है। इन वाहनों पर कुल प्रभावी कर दर 30.3 प्रतिशत है। गडकरी ने कहा, ‘‘मैं जल्द अरुण जेटली से मिलूंगा और एथेनॉल, जैव डीजल, जैव सीएनजी से चलने वाले वाहनों पर कर की दर घटाने को कहूंगा। इसके अलावा मैं उनसे हाइब्रिड वाहनों पर भी कर की दर कम करने को कहूंगा।’’ मंत्री ने कहा कि सरकार की नीति देश में इलेक्ट्रिक वाहनों को प्रोत्साहन देने की है। इलेक्ट्रिक वाहनों पर जीएसटी दर 12 प्रतिशत रखी गई है। उन्होंने कहा, ‘‘इलेक्ट्रिक कारों और बसों को प्रोत्साहन हमारी नीति है। जल्द हम इस बारे में नीति लाएंगे। ईंधन बचत के लिए हाइब्रिड कारों को प्रोत्साहन दिया जाना चाहिए।’'

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़