अमेरिका से GSP देने की व्यवस्था खत्म होने से अर्थव्यवस्था पर कोई असर नहीं: गोयल

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Jun 21 2019 6:16PM
अमेरिका से GSP देने की व्यवस्था खत्म होने से अर्थव्यवस्था पर कोई असर नहीं: गोयल
Image Source: Google

गोयल ने राज्यसभा में प्रश्नकाल के दौरान एक सवाल के जवाब में स्पष्ट किया कि अमेरिका द्वारा जीएसपी को समाप्त करना वैश्विक व्यापार युद्ध की प्रक्रिया का सामान्य हिस्सा है।

नयी दिल्ली। वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री पीयूष गोयल ने शुक्रवार को कहा कि गत पांच जून को अमेरिका द्वारा भारत को व्यापार में तरजीह दिये जाने की व्यवस्था के तहत तरजीही व्यापार व्यवहार (जीएसपी) को समाप्त किये जाने के बाद देश की अर्थव्यवस्था पर कोई नकारात्मक प्रभाव नहीं पड़ा है और भारत ने इस स्थिति को बखूबी संभाला है।

इसे भी पढ़ें: भारत में 89 प्रतिशत पारिवारिक कंपनियों के कारोबार में दो साल में विस्तार की संभावना: सर्वे

गोयल ने राज्यसभा में प्रश्नकाल के दौरान एक सवाल के जवाब में स्पष्ट किया कि अमेरिका द्वारा जीएसपी को समाप्त करना वैश्विक व्यापार युद्ध की प्रक्रिया का सामान्य हिस्सा है। उन्होंने कहा कि जब पूरे विश्व में विभिन्न देशों के बीच व्यापारिक युद्ध चल रहा है, इससे भारत भी प्रभावित होगा। लेकिन भारत ने इस स्थिति को बेहतर तरीके से संभाला है। उन्होंने बताया कि भारत ने कैलेंडर वर्ष 2018 के दौरान जीएसपी कार्यक्रम के तहत अमेरिका को 6.3 अरब डालर कीमत की वस्तुओं का निर्यात किया था। यह अमेरिका को भारत के कुल निर्यात का 12.1 प्रतिशत था। 

इसे भी पढ़ें: होंडा कार्स अपने वाहनों के दाम 1.2% बढ़ाने पर कर रही है विचार



अमेरिका से भारत को आयात होने वाली कुछ वस्तुओं पर आयात शुल्क बढ़ाये जाने पर भारत की जवाबी प्रतिक्रिया से संबंधी पूरक प्रश्न के जवाब में गोयल ने बताया कि भारत ने भी इसकी भरपाई के लिये अमेरिका निर्यात होने वाली कुछ वस्तुओं पर शुल्क में बढ़ोतरी कर दी है। हालांकि उन्होंने कहा कि अंतरराष्ट्रीय व्यापार में यह सामान्य प्रक्रिया है।

इसे भी पढ़ें: RBI ने ब्याज दरें घटाईं, आम लोगों को मिली बड़ी राहत

अमेरिकी कार्रवाई से भारतीय अर्थव्यवस्था पर पड़े प्रभाव के बारे में गोयल ने कहा कि जीएसपी खत्म होने के बाद भारतीय अर्थव्यवस्था को 25 से 26.9 करोड़ अमेरिकी डालर का असर पड़ा है, लेकिन भारत जैसी विशाल अर्थव्यवस्था के लिये यह नगण्य है।उन्होंने सदन को भरोसा जताया कि इसका कोई गंभीर असर नहीं हुआ है, भारत स्थिति से निपटने में सक्षम है। उन्होंने कहा कि अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पॉम्पियो की आगामी 25 जून से दो दिवसीय भारत यात्रा के समय सभी संबद्ध विषयों पर विस्तार से चर्चा की जायेगी। 

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story

Related Video